होम /न्यूज /मध्य प्रदेश /हफ्ते भर से फसल बेचने को खरीद केंद्र पर पड़े किसानों ने लगाया जाम

हफ्ते भर से फसल बेचने को खरीद केंद्र पर पड़े किसानों ने लगाया जाम

सतना में फसल खरीद ना होने पर सड़क जाम करते किसान

सतना में फसल खरीद ना होने पर सड़क जाम करते किसान

सतना जिले में समर्थन मूल्य पर गेहूं खरीद केंद्र की मनमानी से किसान खासे परेशान हैं. इसके खिलाफ सोमवार को किसानों का गुस ...अधिक पढ़ें

    सतना जिले में समर्थन मूल्य पर गेहूं खरीद केंद्र की मनमानी से किसान खासे परेशान हैं. इसके खिलाफ सोमवार को किसानों का गुस्सा सड़कों पर उतर आया. हफ्ते भर से खरीद केंद्र पर फसल लेकर पड़े किसानों ने सतना- सेमरिया मार्ग पर चक्का जाम कर दिया. किसानों ने घंटों हंगामा किया.उन्होंने बताया कि तिहाई खरीद केंद्र में खरीदी गई फसल का वहां से विस्थापन को परिवहन व्यवस्था न होने से सारी परेशानी है. ऐसे में जगह के अभाव की वजह से खरीद बंद कर दी गई है जबकि वह कई-कई दिन से लाइन में अपनी बारी का इंतजार कर रहे हैं.

    सतना जिले में 88 गेहूं खरीदी केंद्र बनाये गए हैं, जहां किसानों से समर्थन मूल्य पर खरीद हो रही है. 15 अप्रैल से खरीद शुरु हुई मगर अधिकांश जगहों पर किसान परेशान हैं. किसान अपनी फसल लेकर खरीद केंद्रों में डेरा डाले हैं मगर फसल की तौल नहीं हो पा रही है. 44 डिग्री तापमान में किसान पेड़ों के नीचे चार- चार दिनों से इंतजार कर रहा कि कब उनकी फसल बिके. इस मामले में मार्कफेड विभाग की लापरवाही सामने आ रही है. खरीद केंद्रों से फसल का परिवहन करने और वेयर हाउस में रखने का जिम्मा इनके पास हैं.

    तिहाई खरीद केंद्र का हाल और बेहाल है. जगह के अभाव में यहां एक हफ्ते से खरीद बंद है. किसान दिन रात अपनी फसल की पहरेदारी करते  इतना आक्रोशित हुआ कि सड़क पर जाम लगा दिया. किसानों का आरोप है कि तौल नहीं होने से परेशानी हो रही और उनकी समस्या न तो नेता सुन रहे और न अधिकारी. वहीं खरीद प्रभारी का कहना है कि खरीदी गई फसल का परिवहन न होने से स्टॉक ज्यादा हो चुका और उनके पास जगह नहीं है.ऐसे में जब तक जगह नहीं होगी, खरीद नहीं हो सकती है.

    Tags: Satna news

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें