राज्य

ग्राम प्रधान पर आरोप, लोहिया आवास देने के नाम पर कर रहे अवैध वसूली

उत्तर प्रदेश में पूर्व की अखिलेश सरकार में शुरू की गई महत्वाकांक्षी योजना डॉ. राम मनोहर लोहिया आवास योजना में ग्रामप्रधान पर गांववालों अवैध वलूसी के आरोप लगे हैं.

ETV UP/Uttarakhand
Updated: June 15, 2017, 7:46 AM IST
ETV UP/Uttarakhand
Updated: June 15, 2017, 7:46 AM IST
उत्तर प्रदेश में पूर्व की अखिलेश सरकार में शुरू की गई महत्वाकांक्षी योजना डॉ. राम मनोहर लोहिया आवास योजना में ग्रामप्रधान पर गांववालों अवैध वलूसी के आरोप लगे हैं. ग्रामप्रधान लोहिया आवास देने के नाम पर ग्रामीणों से अवैध वसूली कर रहे हैं.

मामला टांडा तहसील और विकास खंड बसखारी के हुसैनपुर गिरंट गांव का है. यहां सरकार की तरफ से गरीबों के लिए 19 लोहिया आवास आवंटित किए गए थे. सरकार की तरफ से आवास के निर्माण के लिए पहली क़िस्त भी जारी कर दी गई थी. लेकिन ग्राम प्रधान ने लोहिया आवास के सभी पत्रों की पास बुक ले ली और पहली क़िस्त में से 6 हज़ार रुपये निकाल लिए.

लोहिया आवास बनाने वाले जूनियर इंजीनियर ने सभी पात्रों से 5 हज़ार रुपये ले लिए. अब लोहिया आवास के आये सोलर लाइट के लिए भी प्रधान पैसों की मांग कर रहा है. प्रधान से पीड़ित एक दर्जन पात्रों ने जिलाधिकारी से शिकायत की है. जिसपर जिलाधिकारी ने जांच के आदेश दिए हैं.

लोहिया आवास के पात्र राम चंद्र चौहान ने ग्राम प्रधान रणजीत पासवान पर आरोप लगाते हुए कहा कि हमारे ग्राम प्रधान में लोहिया आवास के लिए सभी से 60-60 हजार रुपये वसूले हैं. लेकिन अभी तक आवास नहीं मिला. जबकि आवास बनकर तैयार है. आवास के लिए जो सोलर लाइट आई है वो तभी मिलेगी जब और रुपये दोगे.
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर