राज्य

अकेले यूपी में हैं 1468 शत्रु संपत्तियां, अब इन पर होगा सरकार का कब्जा

पूरे देश में 2168 शत्रु संपत्तियां दर्ज हैं, जिनमें अकेले 1468 यूपी में है. राजधानी लखनऊ में 125 से ज्यादा शत्रु संपत्तियां हैं जिन पर अब सरकार का कब्जा होगा.

News18Hindi
Updated: March 15, 2017, 4:32 PM IST
अकेले यूपी में हैं 1468 शत्रु संपत्तियां, अब इन पर होगा सरकार का कब्जा
पूरे देश में 2168 शत्रु संपत्तियां दर्ज हैं, जिनमें अकेले 1468 यूपी में है. राजधानी लखनऊ में 125 से ज्यादा शत्रु संपत्तियां हैं जिन पर अब सरकार का कब्जा होगा.
News18Hindi
Updated: March 15, 2017, 4:32 PM IST
शत्रु संशोधन विधेयक के लोक सभा में पास होने के बाद पाकिस्तान और चीन में बस चुके लोगों का अब भारत में उनकी संपत्ति पर मालिकाना हक नहीं होगा. इस विधेयक को राज्य सभा पहले ही पास कर चुकी है. पूरे देश में 2168 शत्रु संपत्तियां दर्ज हैं, जिनमें अकेले 1468 यूपी में है. राजधानी लखनऊ में 125 से ज्यादा शत्रु संपत्तियां हैं. जिन पर अब सरकार का कब्जा होगा.

वर्तमान में राजा महमूदाबाद मोहम्मद आमिर मोहम्मद खान से जुड़ा बटलर पैलेस (रंग महल), हलवासिया कोर्ट, लारी बिल्डिंग, महमूदाबाद मेंशन, पुराना एसएसपी कार्यालय भवन, कैसरबाग हाता, गोलागंज स्थित लाल कोठी, अमीना बाद की वारसी बिल्डिंग, चौक इलाके की कनीज सईदा बेगम पुरानी बाड़ी खाना कोठी, क्ले स्क्वायर स्थित हैदरी बेगम हवेली, अब्दुल लतीफ़ हाता खां, अब्दुल खलीम की नौबस्ता स्थित पुरानी ईमारत और सिद्दीकी बिल्डिंग समेत 125 से ज्यादा शत्रु संपत्तियां हैं.

सबसे ज्यादा 112 संपत्तियां सदर में हैं, 9 मलीहाबाद, 29 मोहनलालगंज, और 17 बीकेटी तहसील क्षेत्र में हैं.

ज्यादातर शत्रु संपत्तियों में खुले हैं शो रूम, दुकानें

हजरतगंज में स्थित ज्यादातर शत्रु संपत्तियों में शो रूम, दुकानें, होटल और रेस्तरां खुले हैं. इनमें से अधिकांश पर उप शत्रु संपत्ति अभिरक्षक के बतौर कस्टोडियन बन प्रशासन काबिज है. और इनमें से अधिकांश संपत्तियों के भवन का प्रयोग किराए पर हो रहा है. भारत सरकार के अनुसार इन संपत्तियों की वर्तमान में कीमत एक लाख करोड़ के करीब है.

1931 में राजा महमूदाबाद अली मोहम्मद खान के निधन के बाद उनके इकलौते वारिश राजा महमूदाबाद मोहम्मद आमिर मोहम्मद खान 1945 में आजादी से पहले ही इराक चले गए. वहां से वे 1957 में पाकिस्तान में बस गए. उसके बाद वे लंदन में बसे.
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...

वोट करने के लिए संकल्प लें

बेहतर कल के लिए#AajSawaroApnaKal
  • मैं News18 से ई-मेल पाने के लिए सहमति देता हूं

  • मैं इस साल के चुनाव में मतदान करने का वचन देता हूं, चाहे जो भी हो

    Please check above checkbox.

  • SUBMIT

संकल्प लेने के लिए धन्यवाद

जिम्मेदारी दिखाएं क्योंकि
आपका एक वोट बदलाव ला सकता है

ज्यादा जानकारी के लिए अपना अपना ईमेल चेक करें

डिस्क्लेमरः

HDFC की ओर से जनहित में जारी HDFC लाइफ इंश्योरेंस कंपनी लिमिटेड (पूर्व में HDFC स्टैंडर्ड लाइफ इंश्योरेंस कंपनी लिमिटेड). CIN: L65110MH2000PLC128245, IRDAI R­­­­eg. No. 101. कंपनी के नाम/दस्तावेज/लोगो में 'HDFC' नाम हाउसिंग डेवलपमेंट फाइनेंस कॉर्पोरेशन लिमिटेड (HDFC Ltd) को दर्शाता है और HDFC लाइफ द्वारा HDFC लिमिटेड के साथ एक समझौते के तहत उपयोग किया जाता है.
ARN EU/04/19/13626

News18 चुनाव टूलबार

  • 30
  • 24
  • 60
  • 60
चुनाव टूलबार