राज्य

पूर्व पार्षद हाजी फाको की मौत पर किन्नरों ने किया अस्पताल हंगामा

HARISH SHARMA | ETV UP/Uttarakhand
Updated: May 19, 2017, 4:02 PM IST
पूर्व पार्षद हाजी फाको की मौत पर किन्नरों ने किया अस्पताल हंगामा
पूर्व पार्षद किन्नर हाजी फाको की इलाज के बाद हंगाम करते किन्नर समाज
HARISH SHARMA | ETV UP/Uttarakhand
Updated: May 19, 2017, 4:02 PM IST
मेरठ में दो दिन पहले बदमाशों की गोली से घायल पूर्व पार्षद किन्नर हाजी फाको की इलाज के दौरान मौत हो गई. फाको की मौत के बाद किन्नर समुदाय के लोगों ने अस्पताल में जमकर तोड़फोड़ की और हंगामा किया. किन्नरों के दो गुटों में इलाके पर कब्जे को लेकर लंबे समय से विवाद चल रहा था.

बता दें, कि लिसाड़ी गेट इलाके में दो दिन पहले बदमाशों ने हाजी फांकों को घर में घुस कर गोलियां मारी थी. हाजी फाको इस इलाके में किन्नरों का गुरु था. हाजी फांको की मौत के बाद उनके समर्थकों का गुस्सा उबल पड़ा.

करीब दो घंटे तक चले बवाल के बाद ये लोग खुद-ब-खुद शांत हो गए. इनका आरोप था कि अस्पताल के डॉक्टरों की लापरवाही से हाजी फाको की जान चली गई. पुलिस के मुताबिक इलाके पर कब्जे को लेकर किन्नरों के दो गुटों में आपसी रंजिश के चलते ये हत्या हुई है. इस विवाद में पहले भी एक हत्या हो चुकी है.

वहीं घायल किन्नर को इलाज के लिए आनंद अस्पताल में भर्ती कराया गया था. जहां साथी किन्नर की मौत के बाद किन्नर समुदाय के लोगों ने जमकर बवाल किया. किन्नरों के इस हंगामें के आगे पुलिस बेबस नजर आई और अस्पताल में आशांति छाई रही. किन्नरों ने अस्पताल में मौजूद कीमती सामान, कुर्सी, मेज सब कुछ तोड़ डाला और मरीजों के रिश्तेदारों की जमकर पिटाई की.

मौके पर पहुंची पुलिस के अधिकारियों ने हाजी फाको के शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया. वहीं अस्पताल के सीसीटीवी कैमरों की फुटेज हासिल करके अस्पताल में बवाल करने वाले किन्नरों की पहचान कर रही है.

एसपी सिटी आलोक प्रियदर्शी ने बताया कि बेवजह मरीज के तीमारदारों को पीटने और अस्पताल में तोड़फोड़ करने वालों के खिलाफ कड़ी कानूनी कार्रवाई की जाएगी. लेकिन हैरानी की बात ये है कि हंगामें के वक्त पुलिस वहीं मौजूद थी, लेकिन फिर भी वो किसी को गिरफ्तार नहीं कर पाई.
First published: May 19, 2017
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर