राज्य

'रंग' में छुपी होगी सचिवालय कर्मियों की 'पहचान'

ETV UP/Uttarakhand
Updated: May 18, 2017, 6:15 PM IST
'रंग' में छुपी होगी सचिवालय कर्मियों की 'पहचान'
आनंद वर्धन , प्रमुख सचिव , सचिवालय प्रशासन , उत्तराखंड
ETV UP/Uttarakhand
Updated: May 18, 2017, 6:15 PM IST
उत्तराखंड सचिवालय में अब अधिकारी और कर्मचारियों के गलों में पहचान पत्र होंगे.  प्रमुख सचिव आनंद वर्धन ने बताया कि सचिवालय में वर्क कल्चर और सेल्फ डिसीप्लीन के मद्देनजर यह फैसला लिया गया है.

सचिवालय प्रशासन के फरमान के बाद अब मुख्य सचिव से सामान्य कर्मचारी तक को बायोमेट्रिक अटेंडेंस बनानी होगी. इसके साथ ही गले में पहचान पत्र पहनना भी जरूरी होगा. इतना ही नहीं पहचान पत्र एक नहीं बल्कि सात रंगों के होंगे. विभागावार और पोस्ट के लिहाज से ही पहचान पत्र के रिबन के रंगो का निर्धारण किया जायेगा.

उत्तराखंड सचिवालय प्रशासन के प्रमुख सचिव आनंद वर्धन ने कहा कि पहचान पत्र के रंगों की भिन्नता अलग मुद्दा है. मुख्य मुद्दा है कि जो भी व्यक्ति सचिवालय आ रहा है उसकी पहचान होनी चाहिए. उसके पास कोई न कोई डाक्यूमेंट होना चाहिए जिससे यह पता चल सके कि वह सचिवालय में काम करता है. अगर बाहर से भी आया है तो उसके पास सचिवालय आने के लिए पर्याप्त डाक्यूमेंट्री प्रूफ होना चाहिए.

उन्होंने कहा कि पहचान पत्रों को रंगीन इसलिए बनाया गया ताकि देख कर ही पता चल सके कि कौन सचिवालय का कर्मी है, किस विभाग से है और किस स्तर का है. साथ ही देखकर ही यह भी पता चल सकेगा कि कौन गैर सरकारी और कौन बाहर का है.

प्रमुख सचिव ने कहा कि जब भी कोई नयी व्यवस्था शुरू की जाती है तो कुछ न कुछ दिक्कतें आती हैं. लेकिन समय के साथ ही ये दिक्कतें खत्म हो जाती हैं.
First published: May 18, 2017
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर