राज्य

त्रिवेंद्र सरकार को महिलाओं की चेतावनी, आबकारी नीति नहीं बदली तो होगा आंदोलन

ETV UP/Uttarakhand
Updated: May 18, 2017, 12:59 PM IST
त्रिवेंद्र सरकार को महिलाओं की चेतावनी, आबकारी नीति नहीं बदली तो होगा आंदोलन
उत्‍तराखंड की नई आबकारी नीति पर प्रति‍क्रिया देते हुए प्रदेश कांग्रेस अध्‍यक्ष प्रीतम सिंह. फोटो : न्‍यूज18/ ईटीवी
ETV UP/Uttarakhand
Updated: May 18, 2017, 12:59 PM IST
उत्‍तराखंड में त्रिवेंद रावत सरकार ने बुधवार को नई आबकारी नीति को मंजूरी दे दी. नई आबकारी नीति में राजस्‍व आय का लक्ष्‍य बढ़ाकर 2310 करोड़ रुपए रखा गया है. सत्‍ता पक्ष ने जहां इस नीति की सराहना की है, वहीं विपक्षी दल कांग्रेस ने सरकार पर निशाना साधते हुए इसकी आलोचना की है. महिलाओं ने भी सरकार की नई आबकारी नीति का विरोध किया है.

हरक सिंह रावत ने की तारीफ

उत्‍तराखंड कैबिनेट की बैठक में बुधवार को मंजूर नई आबकारी नीति की मंत्री हरक सिंह रावत ने सराहना की है. कैबिनेट बैठक खत्म होने के बाद हरक सिंह रावत ने मीडिया से बात की और राज्य की नई आबकारी नीति की तारीफ की. उन्‍होंने वनों को आग से बचाने के मामले पर कहा कि सरकार और वन विभाग उपलब्ध संसाधनों के जरिये काम कर रहा है.

सरकार की कथनी और करनी में अंतर : कांग्रेस

दूसरी ओर प्रदेश में नई आबकारी नीति को कैबिनेट की मंजूरी मिलने के बाद कांग्रेस ने सरकार पर निशाना साधा है. पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष प्रीतम सिंह ने कहा कि एक ओर तो सरकार कहती है कि हमारा लक्ष्‍य शराब से पैसा कमाना नहीं है. दूसरी ओर वह नई आबकारी नीति में राजस्व का लक्ष्य बढ़ा देती है. इससे उसकी कथनी और करनी में अंतर साफ हो जाता है.

उग्र आंदोलन की चेतावनी

प्रदेश सरकार द्वारा शराब की दुकानों को लेकर लिए गए कैबिनेट के फैसले का चमोली की महिलाओं ने खुलकर विरोध किया है. शराब की दुकानों का विरोध कर रही महिलाएं जहां शराबबंदी को लेकर पहले से ही आंदोलित थीं, वहीं अब सरकार के नई आबकारी नीति में राजस्‍व आय का लक्ष्‍य बढ़ाने के फैसले से महिलाओं व समाजसेवियों में जमकर आक्रोश है. उनका कहना है कि यदि सरकार ने इस फैसले को जल्द नहीं बदला तो वे उग्र आंदोलन के लिए बाध्य हो जाएंगे.
First published: May 18, 2017
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर