राज्य

अभी मत मानो गंगा-यमुना को इंसान, हाईकोर्ट के फ़ैसले पर सुप्रीम कोर्ट की रोक

सुप्रीम कोर्ट ने गंगा-यमुना को जीवित व्यक्ति का दर्जा देने के नैनीताल हाईकोर्ट के आदेश पर रोक लगा दी है.

News18India
Updated: July 7, 2017, 4:52 PM IST
अभी मत मानो गंगा-यमुना को इंसान, हाईकोर्ट के फ़ैसले पर सुप्रीम कोर्ट की रोक
गंगा घाट हरिद्वार उत्तराखंड
News18India
Updated: July 7, 2017, 4:52 PM IST
सुप्रीम कोर्ट ने गंगा-यमुना को जीवित व्यक्ति का दर्जा देने के नैनीताल हाईकोर्ट के आदेश पर रोक लगा दी है.

इसी साल मार्च में नैनीताल हाईकोर्ट ने एक जनहित याचिका पर सुनवाई करते हुए गंगा-यमुना को जीवित व्यक्ति का दर्जा देने का आदेश दिया था. अदालत ने कहा था कि दोनों नदियों को प्रदूषित करना पर किसी इंसान को नुक़सान पहुंचाने जैसा ही माना जाएगा.

अदालत ने उत्तराखंड के प्रमुख सचिव, नमामि गंगे के निदेशक और राज्य के एडवोकेट जनरल को दोनों नदियों का कानूनी अभिभावक नियुक्त कर दिया था.

उत्तराखंड सरकार ने नैनीताल हाईकोर्ट के इस फ़ैसले को सुप्रीम कोर्ट में चुनौती देने का फ़ैसला किया था. राज्य सरकार का कहना था कि तकनीकी, भौगोलिक और प्रशासनिक वजहों से यह चुनौती दी जा रही है.

सरकार का तर्क है कि ये नदियां पांच राज्यों से होकर गुज़रती हैं. अगर गंगा यूपी, बिहार, बंगाल में प्रदूषित होती हैं तो उसके लिए राज्य के अधिकारियों को ज़िम्मेदार नहीं ठहराया जा सकता.

राज्य सरकार का तर्क सुनने के बाद सुप्रीम कोर्ट ने शुक्रवार को नैनीताल हाईकोर्ट के फ़ैसले पर रोक लगा दी है.

 
Loading...

और भी देखें

Updated: November 08, 2018 08:47 PM ISTमथुरा में ‘भाई दूज’ का विशेष महत्व, यमुना में डुबकी लगाने से मिलेगा ये वरदान
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर