होम » वीडियो

VIDEO: म्यूचुअल फंड्स की बदली स्कीम से आपके निवेश पर ये होगा असर

मनी03:44 PM IST Oct 21, 2017

सेबी के म्युचूअल फंड्स स्कीम को लेकर उठाए सख्त कदम का आम निवेशक पर क्या असर होगा. इस सवाल का जवाब ज्यादातर निवेशक ढ़ूढ रहे है. इस पर कोटक महिंद्रा एएमसी के एमडी नीलेश शाह का कहना है कि सेबी का यह फैसला निवेशकों के लिए काफी फायदेमंद होगा. फिलहाल बाजार में 2000 के करीब म्युचूअल फंड है. सिर्फ लॉर्जकैप कैटेगरी में ही कई फंड है. जिसके कारण निवेश करने में इन्वेस्टर्स को काफी दिक्कतें होती है. सेबी के इस फैसले की जरूरत बाजार को थी. निवेशक को स्कीम में निवेश की जानकारी रहेगी. नीलेश कहते है कि कई मिडकैप फंड्स में कोई लिमिट नहीं थी जिसके कारण बड़ी रेंज में निवेश की क्षमता से कई फंड का प्रदर्शन अच्छा रहता था, लेकिन सेबी के इस फैसले के बाद लिमिटेशन की वजह से कई फंड की परफॉर्मेंस पर असर देखने को मिल सकता है. सेबी के फैसले से लिमिटेशन से छुटकारा मिलेगा और सभी फंड के लिए एक जैसे नियम होंगे. दुनिया भर के प्रोविडेंट फंड, पेंशन फंड इक्विटी में निवेश करते हैं। निवेशकों में जानकारी बढ़ी है. जिसके चलते सही एसेट एलोकेशन हो रहा है.

news18 hindi

सेबी के म्युचूअल फंड्स स्कीम को लेकर उठाए सख्त कदम का आम निवेशक पर क्या असर होगा. इस सवाल का जवाब ज्यादातर निवेशक ढ़ूढ रहे है. इस पर कोटक महिंद्रा एएमसी के एमडी नीलेश शाह का कहना है कि सेबी का यह फैसला निवेशकों के लिए काफी फायदेमंद होगा. फिलहाल बाजार में 2000 के करीब म्युचूअल फंड है. सिर्फ लॉर्जकैप कैटेगरी में ही कई फंड है. जिसके कारण निवेश करने में इन्वेस्टर्स को काफी दिक्कतें होती है. सेबी के इस फैसले की जरूरत बाजार को थी. निवेशक को स्कीम में निवेश की जानकारी रहेगी. नीलेश कहते है कि कई मिडकैप फंड्स में कोई लिमिट नहीं थी जिसके कारण बड़ी रेंज में निवेश की क्षमता से कई फंड का प्रदर्शन अच्छा रहता था, लेकिन सेबी के इस फैसले के बाद लिमिटेशन की वजह से कई फंड की परफॉर्मेंस पर असर देखने को मिल सकता है. सेबी के फैसले से लिमिटेशन से छुटकारा मिलेगा और सभी फंड के लिए एक जैसे नियम होंगे. दुनिया भर के प्रोविडेंट फंड, पेंशन फंड इक्विटी में निवेश करते हैं। निवेशकों में जानकारी बढ़ी है. जिसके चलते सही एसेट एलोकेशन हो रहा है.

Latest Live TV