vidhan sabha election 2017

VIDEO: सुसाइड से पहले फेसबुक पर कहा 'अलविदा'

OMG11:29 AM IST Dec 07, 2017

असम के मंगलदोई इलाके में एक शख्स ने अपनी खुदकुशी का संदेश देने के लिए सोशल मीडिया फेसबुक का प्रयोग करके लोगों को सकते में डाल दिया. जानकारी के मुताबिक निखिल रंजन वशिष्ठ नामक शख्स ने आत्महत्या से पहले सोशल मीडिया फेसबुक पर एक वीडियो जारी करके कहा, “सभी को अलविदा, मैं खुदकुशी कर रहा हूं. अगर जिंदा बचा तो फिर मिलेंगे.” फेसबुक पर निखिल रंजन के इस सुसाइड 'संदेश' को जिसने भी देखा या पढ़ा, सकते में आ गया. इस दुखद हादसे के बाद लोगों के बीच यह चर्चा का विषय बन गया है कि क्या फेसबुक भी 'मौत' का संदेश देने का माध्यम बन सकता है. निखिल रंजन वशिष्ठ ने फेसबुक के जरिए अपने जिन दोस्तों को ये संदेश भेजा, उनके पास उसे बचाने का कोई मौका भी नहीं था. घटना के एक दिन बाद निखिल मृत अवस्था में पाया गया. बताया जा रहा है कि निखिल रंजन ने पहले सुसाइड का वीडियो बनाया और फिर नदी में छलांग लगा दी. एक दिन बाद पुलिस ने उसकी डेडबॉडी नदी से रिकवर की. पुलिस इस खुदकुशी को डेयरिंग और स्टंट बता रही है. गौरतलब है कि युवाओं में सुसाइड के बढ़ती प्रवृत्ति को देखते हुए फेसबुक ने हाल ही में एक सॉफ्टवेयर लॉन्च किया है. जिसमें फेसबुक सुसाइड की प्रवृत्ति वाले पोस्ट को स्कैन करेगा और उन पर नजर रखेगा. इसके साथ ही यूजर को मेंटल पीस फैसिलिटी भी मुहैया कराएगा. फेसबुक का ये सॉफ्टवेयर अमेरिका में सफल हो चुका है और इसे खासकर फेसबुक लाइव के जरिए सुसाइड करने की कोशिश करने वाले को बचाने के लिए तैयार किया गया है. एक रिसर्च के मुताबिक दुनिया में हर 40 सेकंड में सुसाइड से 1 आदमी की मौत होती है.

news18 hindi

असम के मंगलदोई इलाके में एक शख्स ने अपनी खुदकुशी का संदेश देने के लिए सोशल मीडिया फेसबुक का प्रयोग करके लोगों को सकते में डाल दिया. जानकारी के मुताबिक निखिल रंजन वशिष्ठ नामक शख्स ने आत्महत्या से पहले सोशल मीडिया फेसबुक पर एक वीडियो जारी करके कहा, “सभी को अलविदा, मैं खुदकुशी कर रहा हूं. अगर जिंदा बचा तो फिर मिलेंगे.” फेसबुक पर निखिल रंजन के इस सुसाइड 'संदेश' को जिसने भी देखा या पढ़ा, सकते में आ गया. इस दुखद हादसे के बाद लोगों के बीच यह चर्चा का विषय बन गया है कि क्या फेसबुक भी 'मौत' का संदेश देने का माध्यम बन सकता है. निखिल रंजन वशिष्ठ ने फेसबुक के जरिए अपने जिन दोस्तों को ये संदेश भेजा, उनके पास उसे बचाने का कोई मौका भी नहीं था. घटना के एक दिन बाद निखिल मृत अवस्था में पाया गया. बताया जा रहा है कि निखिल रंजन ने पहले सुसाइड का वीडियो बनाया और फिर नदी में छलांग लगा दी. एक दिन बाद पुलिस ने उसकी डेडबॉडी नदी से रिकवर की. पुलिस इस खुदकुशी को डेयरिंग और स्टंट बता रही है. गौरतलब है कि युवाओं में सुसाइड के बढ़ती प्रवृत्ति को देखते हुए फेसबुक ने हाल ही में एक सॉफ्टवेयर लॉन्च किया है. जिसमें फेसबुक सुसाइड की प्रवृत्ति वाले पोस्ट को स्कैन करेगा और उन पर नजर रखेगा. इसके साथ ही यूजर को मेंटल पीस फैसिलिटी भी मुहैया कराएगा. फेसबुक का ये सॉफ्टवेयर अमेरिका में सफल हो चुका है और इसे खासकर फेसबुक लाइव के जरिए सुसाइड करने की कोशिश करने वाले को बचाने के लिए तैयार किया गया है. एक रिसर्च के मुताबिक दुनिया में हर 40 सेकंड में सुसाइड से 1 आदमी की मौत होती है.

Latest Live TV