लाइव टीवी

VIDEO: क्या आपने देखे हैं ये जानवर? उत्तरकाशी में दिखे दुर्लभ जीव

वायरल News18Hindi| January 9, 2019, 1:10 PM IST

उत्तरकाशी गंगोत्री नेशनल पार्क वन्यजीवों के लिए वरदान साबित हो रहा है. ट्रैप कैमरे लगने के बाद से यहां कई दुर्लभ वन्य जीव दिखाई दिए हैं. वन्य जीवों के साथ दुर्लभ प्रजातियों वन्यजीवों की तादाद में बढ़ोतरी होने लगी है. भारतीय वन्य जीव संस्थान एवं पार्क प्रशासन के ट्रैप कैमरों की मदद से स्नो लेपर्ड और ब्लू शीप, साइबेलियम प्रजाति की लिंक्स बिल्ली, प्लास बिल्ली, कस्तूरी मृग, कला और भूरा भालू हिमालयन थार के अलावा करीब एक दर्जन से अधिक नई प्रजातियों के जीव देखे गए हैं. वर्ष 2016 में हर्षिल क्षेत्र में हिमालयी जंगली कुत्ता दिखा था. जबकि वर्ष 2017 में सैंड फॉक्स, अर्गली भेड़, लिंक्स बिल्ली, तिब्बती भेड़िया, तिब्बती खरगोश, उड़ने वाली हिमालयी गिलहरी आदि दिखाई दिए. इसके अतिरिक्त कीट, पक्षियों, जलचरों एवं रेंगने वाले जीवों की भी नई प्रजातियां दिखी हैं.

News18 Hindi
First published: January 9, 2019, 1:10 PM IST

उत्तरकाशी गंगोत्री नेशनल पार्क वन्यजीवों के लिए वरदान साबित हो रहा है. ट्रैप कैमरे लगने के बाद से यहां कई दुर्लभ वन्य जीव दिखाई दिए हैं. वन्य जीवों के साथ दुर्लभ प्रजातियों वन्यजीवों की तादाद में बढ़ोतरी होने लगी है. भारतीय वन्य जीव संस्थान एवं पार्क प्रशासन के ट्रैप कैमरों की मदद से स्नो लेपर्ड और ब्लू शीप, साइबेलियम प्रजाति की लिंक्स बिल्ली, प्लास बिल्ली, कस्तूरी मृग, कला और भूरा भालू हिमालयन थार के अलावा करीब एक दर्जन से अधिक नई प्रजातियों के जीव देखे गए हैं. वर्ष 2016 में हर्षिल क्षेत्र में हिमालयी जंगली कुत्ता दिखा था. जबकि वर्ष 2017 में सैंड फॉक्स, अर्गली भेड़, लिंक्स बिल्ली, तिब्बती भेड़िया, तिब्बती खरगोश, उड़ने वाली हिमालयी गिलहरी आदि दिखाई दिए. इसके अतिरिक्त कीट, पक्षियों, जलचरों एवं रेंगने वाले जीवों की भी नई प्रजातियां दिखी हैं.

उत्तरकाशी गंगोत्री नेशनल पार्क वन्यजीवों के लिए वरदान साबित हो रहा है. ट्रैप कैमरे लगने के बाद से यहां कई दुर्लभ वन्य जीव दिखाई दिए हैं. वन्य जीवों के साथ दुर्लभ प्रजातियों वन्यजीवों की तादाद में बढ़ोतरी होने लगी है. भारतीय वन्य जीव संस्थान एवं पार्क प्रशासन के ट्रैप कैमरों की मदद से स्नो लेपर्ड और ब्लू शीप, साइबेलियम प्रजाति की लिंक्स बिल्ली, प्लास बिल्ली, कस्तूरी मृग, कला और भूरा भालू हिमालयन थार के अलावा करीब एक दर्जन से अधिक नई प्रजातियों के जीव देखे गए हैं. वर्ष 2016 में हर्षिल क्षेत्र में हिमालयी जंगली कुत्ता दिखा था. जबकि वर्ष 2017 में सैंड फॉक्स, अर्गली भेड़, लिंक्स बिल्ली, तिब्बती भेड़िया, तिब्बती खरगोश, उड़ने वाली हिमालयी गिलहरी आदि दिखाई दिए. इसके अतिरिक्त कीट, पक्षियों, जलचरों एवं रेंगने वाले जीवों की भी नई प्रजातियां दिखी हैं.

Latest Live TV

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

आप अपनी भावनाओं पर क़ाबू रखने में दिक़्क़त महसूस करेंगे – आपका अजीब रवैया लोगों को भ्रमित करेगा और इसलिए आपमे झुंझलाहट पैदा करेगा। अगर आप लम्बे वक़्त के लिए निवेश करें, तो अच्छा-ख़ासा फ़ायदा हासिल कर सकते हैं। रिश्तेदार आपके दुःख में भागीदार बनेंगे। अपनी परेशानियाँ उनसे बांटने में हिचकिचाएँ नहीं। निश्चित तौर पर आप उन्हें हल करने में सफल रहेंगे। अपने प्रिय की बातों के प्रति आप ज़रूरत से ज़्यादा संवेदनशील रहेंगे- आपको अपने जज़्बात पर क़ाबू रखने की ज़रूरत है और ऐसा कुछ करने से बचें जो मामले को और भी बिगाड़ दे। हालाँकि वरिष्ठों से कुछ विरोध के स्वर सुनाई देंगे- लेकिन फिर भी आपको दिमाग़ ठण्डा रखने की ज़रूरत है। ऐसे लोगों से जुड़ने से बचें जो आपकी प्रतिष्ठा को आघात पहुँचा सकते हैं। अगर आप अपने जीवनसाथी को लंबे समय तक कोई सरप्राइज़ नहीं देते हैं, तो आप परेशानियों को न्यौता दे रहे हैं। भविष्य की चिंता से अधिक चिंतन की आवश्यकता होती है, इसलिए बेवजह चिंता करने की बजाय आप कोई रचनात्मक योजना बना सकते हैं। परेशान? आप पंडित जी से प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
corona virus btn
corona virus btn
Loading