VIDEO: धान की इस वैरायटी ने बढ़ाई राइस मिलर्स की परेशानी

छत्तीसगढ़02:58 PM IST Feb 19, 2019

छत्तीसगढ़ की राजधानी रायपुर के साथ ही प्रदेश में कस्टम मिलिंग का काम पूरी तरह से ठप्प पड़ गया है. आरबी गोल्ड धान ने सरकार के साथ साथ राइस मिलरों की परेशानी बढ़ा दी है. अब जिला प्रशासन ने समस्याओं को निराकरण करने पत्र लिखा है. पूरे प्रदेश में 80 लाख मेट्रिक टन धान की खरीदी हुई है, जिसमें मोटा ,पतला और सरना धान के साथ साथ आरबी गोल्ड धान की खरीदी हुई है. आरबी गोल्ड नए किस्म का धान है. कृषि विभाग ने उसे पतला धान की श्रेणी तो बता दिया है मगर नान, एफसीआई के माप में वह मोटा चावल में आ रहा है. इस लिए कस्टम मिलिंग के बाद राइस मिलरों के चावल एलजी (लोवर ग्रेड) बता कर रिजेक्ट किया जा रहा है.

Yugal Tiwari

छत्तीसगढ़ की राजधानी रायपुर के साथ ही प्रदेश में कस्टम मिलिंग का काम पूरी तरह से ठप्प पड़ गया है. आरबी गोल्ड धान ने सरकार के साथ साथ राइस मिलरों की परेशानी बढ़ा दी है. अब जिला प्रशासन ने समस्याओं को निराकरण करने पत्र लिखा है. पूरे प्रदेश में 80 लाख मेट्रिक टन धान की खरीदी हुई है, जिसमें मोटा ,पतला और सरना धान के साथ साथ आरबी गोल्ड धान की खरीदी हुई है. आरबी गोल्ड नए किस्म का धान है. कृषि विभाग ने उसे पतला धान की श्रेणी तो बता दिया है मगर नान, एफसीआई के माप में वह मोटा चावल में आ रहा है. इस लिए कस्टम मिलिंग के बाद राइस मिलरों के चावल एलजी (लोवर ग्रेड) बता कर रिजेक्ट किया जा रहा है.

Latest Live TV