जाको राखे साइयां मार सके न कोय...ट्रेन में फंसे होने के बाद भी युवक की बची जान

OMG05:29 PM IST Feb 09, 2019

कहते हैं 'जाको राखे साइयां मार सके न कोय, बाल न बांका कर सके जो जग बैरी होय'...यानी कि जब तक भगवान न चाहे तब तक किसी को मौत नहीं आ सकती है. यह कहावत बिहार के सारण जिले में चरितार्थ हुई. सारण जिले के दाउदपुर थाना क्षेत्र में चलती ट्रेन से उतरने के क्रम में एक युवक ट्रेन के नीचे चला गया. काफी देर तक युवक ट्रेन के साथ घसीटता रहा. बाद में ट्रेन को रोका गया और युवक को जेसीबी के जरिए ट्रेन के अंदर से सकुशल निकाल लिया गया. युवक का नाम मुंशी साह है जो गोपालगंज का रहने वाला है. युवक को ट्रेन से निकालने का पूरा वीडियो हम आपको दिखाने जा रहे हैं. मुंशी शाह की किस्मत अच्छी थी कि उनकी जान बच गई लेकिन हर बार ऐसा नहीं होता और आए दिन ऐसे हादसे में लोगों की मौत भी हो जाती है. (छपरा से संतोष की रिपोर्ट)

news18 hindi

कहते हैं 'जाको राखे साइयां मार सके न कोय, बाल न बांका कर सके जो जग बैरी होय'...यानी कि जब तक भगवान न चाहे तब तक किसी को मौत नहीं आ सकती है. यह कहावत बिहार के सारण जिले में चरितार्थ हुई. सारण जिले के दाउदपुर थाना क्षेत्र में चलती ट्रेन से उतरने के क्रम में एक युवक ट्रेन के नीचे चला गया. काफी देर तक युवक ट्रेन के साथ घसीटता रहा. बाद में ट्रेन को रोका गया और युवक को जेसीबी के जरिए ट्रेन के अंदर से सकुशल निकाल लिया गया. युवक का नाम मुंशी साह है जो गोपालगंज का रहने वाला है. युवक को ट्रेन से निकालने का पूरा वीडियो हम आपको दिखाने जा रहे हैं. मुंशी शाह की किस्मत अच्छी थी कि उनकी जान बच गई लेकिन हर बार ऐसा नहीं होता और आए दिन ऐसे हादसे में लोगों की मौत भी हो जाती है. (छपरा से संतोष की रिपोर्ट)

Latest Live TV