Union Budget 2019: जानिए बजट में डेफिसिट या घाटे का क्या होता है मतलब

मनी02:24 PM IST Feb 01, 2019

1 फरवरी 2019 को जो बजट पेश करेगी वह अंतरिम बजट 2019 होगा. सरकार इस बजट में कई बड़े और नए ऐलान कर सकती है. सरकार इस बजट में कई बड़े और नए ऐलान कर सकती है. जानें बजट पेश होने से पहले इससे जुड़े कुछ खास शब्दों के मतलब के बारे में. बजट में दो तरह के खर्च का प्रावधान होता है. पहला कैपिटल एक्सपेंडिचर और दूसरा रेवेन्यू एक्सपेंडेंचर. बार-बार होने वाला खर्च रेवेन्यू एक्सपेंडेंचर कहलाता है, वहीं एक बार होने वाला खर्च कैपिटल एक्सपेंडिचर कहा जाता है. इसमें खर्च के बाद कमाई का थोड़ा हिस्सा बचाने की कोशिश होती है. कमाई से ज्यादा खर्च को डेफिसिट या घाटा कहा जाता है. सरकार घाटे की भरपाई के लिए बाजार से उधार लेती है.

news18 hindi

1 फरवरी 2019 को जो बजट पेश करेगी वह अंतरिम बजट 2019 होगा. सरकार इस बजट में कई बड़े और नए ऐलान कर सकती है. सरकार इस बजट में कई बड़े और नए ऐलान कर सकती है. जानें बजट पेश होने से पहले इससे जुड़े कुछ खास शब्दों के मतलब के बारे में. बजट में दो तरह के खर्च का प्रावधान होता है. पहला कैपिटल एक्सपेंडिचर और दूसरा रेवेन्यू एक्सपेंडेंचर. बार-बार होने वाला खर्च रेवेन्यू एक्सपेंडेंचर कहलाता है, वहीं एक बार होने वाला खर्च कैपिटल एक्सपेंडिचर कहा जाता है. इसमें खर्च के बाद कमाई का थोड़ा हिस्सा बचाने की कोशिश होती है. कमाई से ज्यादा खर्च को डेफिसिट या घाटा कहा जाता है. सरकार घाटे की भरपाई के लिए बाजार से उधार लेती है.

Latest Live TV