VIDEO: जज की अनूठी पहल, अब कोर्ट में भी नौनिहालों को मिलेगा ‘मां का आंचल’

छत्तीसगढ़02:22 PM IST Sep 07, 2018

छत्तीसगढ़ के बालोद जिले में डिस्ट्रिक्ट जज ने एक पहल करते हुए न्यायालय में माताओं के लिए एक अलग कमरे की व्यवस्था की है, जिसमें माताओं के साथ साथ बच्चों के खेलने की सुविधा उपलब्ध है. यह सुविधा आम लोगों और समाजसेवी संस्थाओं की मदद से उपलब्ध कराई गई है. बालोद सत्र न्यायाधीश की मानें तो बालोद जिले समेत कई अन्य स्थानों से विभिन्न मामलों में गवाह, पीड़ित या आरोपी के रूप में कई ऐसी महिलाएं भी न्यायालय पहुंचती हैं, जिनके छोटे-छोटे बच्चे होते हैं. न्यायालय में प्रतिदिन विभिन्न प्रकार के व्यक्ति पहुंचते हैं, जिनके बीच मां अपने बच्चे को स्तनपान नहीं करा पाती. इन्हीं बातों को ध्यान में रखते हुए "मां का आंचल" नाम से एक कक्ष का शुभारंभ किया गया है. जिला सत्र न्यायाधीश की पहल को समाजसेवी महिलाओं ने सराहना करते हुए इसके लिए मदद की है. वहीं अपने छोटे बच्चे के साथ न्यायिक मामलों में पहुंची महिला ने भी डिस्ट्रिक्ट जज के इस पहल की प्रशंसा करते हुए अद्वितीय पहल बताया.

Santosh Kumar Sahu

छत्तीसगढ़ के बालोद जिले में डिस्ट्रिक्ट जज ने एक पहल करते हुए न्यायालय में माताओं के लिए एक अलग कमरे की व्यवस्था की है, जिसमें माताओं के साथ साथ बच्चों के खेलने की सुविधा उपलब्ध है. यह सुविधा आम लोगों और समाजसेवी संस्थाओं की मदद से उपलब्ध कराई गई है. बालोद सत्र न्यायाधीश की मानें तो बालोद जिले समेत कई अन्य स्थानों से विभिन्न मामलों में गवाह, पीड़ित या आरोपी के रूप में कई ऐसी महिलाएं भी न्यायालय पहुंचती हैं, जिनके छोटे-छोटे बच्चे होते हैं. न्यायालय में प्रतिदिन विभिन्न प्रकार के व्यक्ति पहुंचते हैं, जिनके बीच मां अपने बच्चे को स्तनपान नहीं करा पाती. इन्हीं बातों को ध्यान में रखते हुए "मां का आंचल" नाम से एक कक्ष का शुभारंभ किया गया है. जिला सत्र न्यायाधीश की पहल को समाजसेवी महिलाओं ने सराहना करते हुए इसके लिए मदद की है. वहीं अपने छोटे बच्चे के साथ न्यायिक मामलों में पहुंची महिला ने भी डिस्ट्रिक्ट जज के इस पहल की प्रशंसा करते हुए अद्वितीय पहल बताया.

Latest Live TV