लाइव टीवी
होम » वीडियो

बेटी ने अपने पिता की देखभाल के लिए छोड़ी पढ़ाई

मध्य प्रदेश ETV MP/Chhattisgarh| August 27, 2015, 3:58 PM IST

मध्यप्रदेश के बुरहानपुर में एक मजदूर दो साल पहले भीषण सड़क हादसे में स्थाई रूप से विकलांग हो गया. विकलांग होने के कारण मजदूर की दस वर्षीय बेटी अपने पिता को पांच किलोमीटर दूर व्हील चेयर पर उपचार के लिए ले जाती है. साथ ही पिता की देखरेख करने और परिवार की आर्थिक तंगी के चलते बेटी को पढ़ाई छोड़ने के लिए मजबूर होना पडा. लाखों रुपए इलाज में खर्च करने के बावजूद परिवार का मुखिया स्थाई रूप से विकलांग हो गया और परिवार कर्जदार होकर आर्थिक तंगी का शिकार हो गया. पीड़ित मजदूर का एक बेटा व दो बेटियां हैं और पत्‍नी को मिलाकर वो पांच लोग है. पीडित मजदूर की पत्नी ने बताया उनका परिवार गंभीर समस्या से जुझ रहा है. ऐसे में उन्हें कोई सरकारी मदद नहीं मिल जाए, तो उन्हें संकट की घड़ी में मदद अपनी गृहस्थी को मदद मिल सकती है.

News18india.com
First published: August 27, 2015, 3:53 PM IST

मध्यप्रदेश के बुरहानपुर में एक मजदूर दो साल पहले भीषण सड़क हादसे में स्थाई रूप से विकलांग हो गया. विकलांग होने के कारण मजदूर की दस वर्षीय बेटी अपने पिता को पांच किलोमीटर दूर व्हील चेयर पर उपचार के लिए ले जाती है. साथ ही पिता की देखरेख करने और परिवार की आर्थिक तंगी के चलते बेटी को पढ़ाई छोड़ने के लिए मजबूर होना पडा. लाखों रुपए इलाज में खर्च करने के बावजूद परिवार का मुखिया स्थाई रूप से विकलांग हो गया और परिवार कर्जदार होकर आर्थिक तंगी का शिकार हो गया. पीड़ित मजदूर का एक बेटा व दो बेटियां हैं और पत्‍नी को मिलाकर वो पांच लोग है. पीडित मजदूर की पत्नी ने बताया उनका परिवार गंभीर समस्या से जुझ रहा है. ऐसे में उन्हें कोई सरकारी मदद नहीं मिल जाए, तो उन्हें संकट की घड़ी में मदद अपनी गृहस्थी को मदद मिल सकती है.

मध्यप्रदेश के बुरहानपुर में एक मजदूर दो साल पहले भीषण सड़क हादसे में स्थाई रूप से विकलांग हो गया. विकलांग होने के कारण मजदूर की दस वर्षीय बेटी अपने पिता को पांच किलोमीटर दूर व्हील चेयर पर उपचार के लिए ले जाती है. साथ ही पिता की देखरेख करने और परिवार की आर्थिक तंगी के चलते बेटी को पढ़ाई छोड़ने के लिए मजबूर होना पडा. लाखों रुपए इलाज में खर्च करने के बावजूद परिवार का मुखिया स्थाई रूप से विकलांग हो गया और परिवार कर्जदार होकर आर्थिक तंगी का शिकार हो गया. पीड़ित मजदूर का एक बेटा व दो बेटियां हैं और पत्‍नी को मिलाकर वो पांच लोग है. पीडित मजदूर की पत्नी ने बताया उनका परिवार गंभीर समस्या से जुझ रहा है. ऐसे में उन्हें कोई सरकारी मदद नहीं मिल जाए, तो उन्हें संकट की घड़ी में मदद अपनी गृहस्थी को मदद मिल सकती है.

Latest Live TV

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

अपनी इच्छाओं की पूर्ति के लिए व्यक्तिगत संबंधों का इस्तेमाल करना आपके जीवनसाथी को नाराज़ कर सकता है। वे निवेश-योजनाएँ जो आपको आकर्षित कर रहीं हैं, उनके बारे में गहराई से जानने की कोशिश करें- कोई भी क़दम उठाने से पहले विशेषज्ञ की सलाह ज़रूर ले लें। ऐसे लोगों को संभालने में काफ़ी दिक़्क़त होगी, जो आपको नीचे खींचने की कोशिश करते हैं। आपका प्रिय आज कुछ खीझा हुआ महसूस कर सकता है, जो आपके दिमाग़ पर दबाव और बढ़ा देगा। आज का दिन थोड़ी दिक़्क़त ला सकता है; लेकिन आप धीरज और शान्त मन से हर मुश्किल पर जीत हासिल कर सकते हैं। ऐसे लोगों से जुड़ने से बचें जो आपकी प्रतिष्ठा को आघात पहुँचा सकते हैं। आप अपने जीवनसाथी को समझने में आपसे ग़लती हो सकती है, जिसकी वजह से सारा दिन उदासी में गुज़रेगा। सप्ताह में छुट्टी वाले दिन स्मार्टफ़ोन स्क्रीन पर बॉस का नाम देखना किसे अच्छा लगता है भला? लेकिन इस बार आपके साथ यही हो सकता है। परेशान? आप पंडित जी से प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
corona virus btn
corona virus btn
Loading