होम » वीडियो » हरियाणा

VIDEO: सुषमा स्वराज से जुड़ी ऐसी 18 बातें, जिन्हें आप जानना चाहेंगे...

अंबाला News18 Haryana| August 7, 2019, 12:30 PM IST

सुषमा स्वराज का जन्म हरियाणा के अंबाला कैंट में 14 फरवरी 1952 को हुआ था. अपने बचपन में वो लगातार तीन साल तक बेस्ट कैडेट चुनी गईं. उन्होंने 20 साल से उम्र में ही सुप्रीम कोर्ट में वकालत शुरू की थीं. यही नहीं उन्होंने वकालत के अलावा संस्कृत और राजनीति शास्त्र में भी डिग्री लिया. वहीं 25 साल की उम्र में सुषमा स्वराज ने देश की सबसे युवा मंत्री बनने का रिकॉर्ड बनाया. उनका विवाह सुप्रीम कोर्ट के वरिष्ठ वकील स्वराज कौशल से हुआ. 1979 में हरियाणा जनता पार्ट की अध्यक्ष के रूप में राज्य की पहली पार्टी प्रमुख बनीं. 1990 में राज्यसभा सांसद बनी. 1996 में सूचना प्रसारण मंत्री के रूप में सुषमा स्वराज ने पहली बार लोकसभा से सीधे प्रसारण की शुरूआत की. इन्हें दिल्ली की पहली महिला मुख्यमंत्री बनने का गौरव प्राप्त हुआ. 2009 में पहली महिला नेता प्रतिपक्ष बनीं. 2014 में सुषमा स्वराज विदेश मंत्री बनीं. 4 दशक में 11 बार चुनाव लड़ीं. उन्हें 6 बार सांसद, 3 बार विधायक और 4 बार केंद्रीय मंत्री बनने का गौरव प्राप्त हुआ. केंद्रीय मंत्री रहने के दौरान उन्होंने फिल्म निर्माण को उद्योग का दर्ज दिलाया. गलती से सीमा पार पहुंची मूक-बधिर गीता को वतन वापस लाईं. वहीं विदेश मंत्री रहने के दौरान ट्विटर पर सबसे ज्यादा फॉलो की जाने वाली मंत्री बनीं.

News18 Hindi
First published: August 7, 2019, 12:30 PM IST
Latest Live TV

फोटो

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

चिंता के विचार आपकी ख़ुशी को बर्बाद कर सकते हैं। ऐसा न होने दें, क्योंकि इनमें अच्छी चीज़ों को ख़त्म करने की और समझदारी में निराशा का ज़हरीला बीज बोने की क्षमता होती है। ख़ुद को हमेशा अच्छा परिणाम पाने के लिए प्रोत्साहित करें और ख़राब हालात में भी कुछ-न-कुछ अच्छा देखने का गुण विकसित करें। ख़ास लोग ऐसी किसी भी योजना में रुपये लगाने के लिए तैयार होंगे, जिसमें संभावना नज़र आए और विशेष हो। भूमि से जुड़ा विवाद लड़ाई में बदल सकता है। मामले को सुलझाने के लिए अपने माता-पिता की मदद लें। उनकी सलाह से काम करें, तो आप निश्चित तौर पर मुश्किल का हल ढूंढने में क़ामयाब रहेंगे। किसी से अचानक हुई रुमानी मुलाक़ात आपका दिन बना देगी। काम के लिए समर्पित पेशेवर लोग रुपये-पैसे और करिअर के मोर्चे पर फ़ायदे में रहेंगे। सफ़र के लिए दिन ज़्यादा अच्छा नहीं है। जीवनसाथी के ख़राब व्यवहार का नकारात्मक असर आपके ऊपर पड़ सकता है। स्वयंसेवी कार्य या किसी की मदद करना आपकी मानसिक शांति के लिए अच्छे टॉनिक का काम कर सकता है। परेशान? आप पंडित जी से प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading