VIDEO: लाहौल स्पीति घाटी में सात महीने बाद किसानों ने किया खेतों का रुख

केलांग05:31 PM IST Apr 15, 2019

लाहौल के गाहर व पट्टन घाटी में करीब सात महीने के बाद खेतीबाड़ी का काम आरंभ हो गया है. तोद, तिनन और मियाड घाटी में अभी भी तीन फुट से पांच फुट तक बर्फ जमी हुई है और इस इलाके में खेतीबाड़ी का कार्य अगले एक महीने तक और संभव नही हो पाएगा. इसी उम्मीद के साथ किसान खेतों की ओर रुख कर रहे हैं कि वे आने वाले सीजन में मटर, गोभी, आलू जैसे नकदी फसलों की अच्छी पैदावार ले पाएंगे. किसानों को यह भी उम्मीद है कि वे गत वर्ष के नुकसान की कुछ हदतक भरपाई कर पाएंगे. गत वर्ष 22 सितम्बर को हुए अचानक बर्फबारी से किसान और बागवानों को करोड़ों रुपए का नुकसान झेलना पड़ा था.

news18 hindi

लाहौल के गाहर व पट्टन घाटी में करीब सात महीने के बाद खेतीबाड़ी का काम आरंभ हो गया है. तोद, तिनन और मियाड घाटी में अभी भी तीन फुट से पांच फुट तक बर्फ जमी हुई है और इस इलाके में खेतीबाड़ी का कार्य अगले एक महीने तक और संभव नही हो पाएगा. इसी उम्मीद के साथ किसान खेतों की ओर रुख कर रहे हैं कि वे आने वाले सीजन में मटर, गोभी, आलू जैसे नकदी फसलों की अच्छी पैदावार ले पाएंगे. किसानों को यह भी उम्मीद है कि वे गत वर्ष के नुकसान की कुछ हदतक भरपाई कर पाएंगे. गत वर्ष 22 सितम्बर को हुए अचानक बर्फबारी से किसान और बागवानों को करोड़ों रुपए का नुकसान झेलना पड़ा था.

Latest Live TV