होम » वीडियो » हिमाचल प्रदेश

VIDEO: पशमीना से बने उत्पादों की मांग बढ़ने से रोजगार में हो रहा है इजाफा

मनाली News18 Himachal Pradesh| July 1, 2019, 5:23 PM IST

हिमाचल प्रदेश में पशमीना ऊन से तैयार उत्पादों की डिमांड देश और विदेशों में लगातार बढ़ती ही जा रही है. पशमीना ऊन से मुख्यत: शॉल तैयार किया जाता है. इसके अलावा पशमीना ऊन से जैकेट, स्वेटर, जुराबें और दस्ताने भी तैयार किए जाते हैं. एक समय था जब लोग इस कार्य से मुंह मोड़ रहे थे, पर आज के समय में यह लेह के लोगों के लिए रोजगार का एक साधन बन गया है. लेह की पशमीना के व्यवसाय से जुड़े कारीगर महिलाओं का कहना है कि एक समय ऐसा था जब सब इस काम को छोड़ रहे थे किन्तु जैसे जैसे पशमीना ऊन से बने उत्पादों की मांग बढ़ने लगी है तो लोगों ने इसे फिर से अपनाना आरंभ कर दिया. महिलाओं ने बताया कि पशमीना एक बकरी है और उसी की ऊन से पशमीना शॉल जैकेट आदि को तैयार किया जाता है.

Sachin Sharma
First published: July 1, 2019, 4:48 PM IST

हिमाचल प्रदेश में पशमीना ऊन से तैयार उत्पादों की डिमांड देश और विदेशों में लगातार बढ़ती ही जा रही है. पशमीना ऊन से मुख्यत: शॉल तैयार किया जाता है. इसके अलावा पशमीना ऊन से जैकेट, स्वेटर, जुराबें और दस्ताने भी तैयार किए जाते हैं. एक समय था जब लोग इस कार्य से मुंह मोड़ रहे थे, पर आज के समय में यह लेह के लोगों के लिए रोजगार का एक साधन बन गया है. लेह की पशमीना के व्यवसाय से जुड़े कारीगर महिलाओं का कहना है कि एक समय ऐसा था जब सब इस काम को छोड़ रहे थे किन्तु जैसे जैसे पशमीना ऊन से बने उत्पादों की मांग बढ़ने लगी है तो लोगों ने इसे फिर से अपनाना आरंभ कर दिया. महिलाओं ने बताया कि पशमीना एक बकरी है और उसी की ऊन से पशमीना शॉल जैकेट आदि को तैयार किया जाता है.

Latest Live TV