पुल के अभाव में कड़कड़ाती ठंड में भी पानी से गुजरते हैं नौनिहाल

मंडी07:37 PM IST Dec 06, 2018

मंडी जिला के करसोग उपमंडल की दुर्गम पंचायत मशोग के ग्रामीणों को आज भी खड्ड पार करके अपने घरों तक पहुंचना पड़ता है. सबसे अधिक समस्या थाची व आसपास के गांव के लोगों को झेलनी पड़ रही है. जूतों को हाथ में लिए खड्ड को पार करने के अलावा दूसरा कोई विकल्प ग्रामीणों के पास नहीं है. इसे पार करने में सबसे ज्यादा परेशानियों का सामना स्कूली छात्र -छात्राओं को करना पड़ता है. इन क्षेत्रों में रहने वाले नौनिहाल शिक्षा प्राप्त करने के लिए खड्ड के दूसरी ओर बने फेगल स्कूल में पढ़ने के लिए पहुंचते हैं. ठंड के मौसम में नंगे पांव खड्ड को पार करना काफी मुश्किल हो जाता है, खड्ड में पाना अधिक होने पर अधिकतर स्कूली छात्र पुल के अभाव में कई दिनों तक स्कूल नहीं जा पाते. स्कूल जाना पड़ जाए तो फिर 6 किलोमीटर पैदल सफर करके स्कूल पहुंचना पड़ता है. इस खड्ड को पार करते वक्त एक युवक इसमें बह कर अपने प्राण गंवा चुका है लेकिन वावजूद इसके इन ग्रामीणों की सुध लेने वाला कोई नहीं है. (रिपोर्ट- वीरेंदर)

news18 hindi

मंडी जिला के करसोग उपमंडल की दुर्गम पंचायत मशोग के ग्रामीणों को आज भी खड्ड पार करके अपने घरों तक पहुंचना पड़ता है. सबसे अधिक समस्या थाची व आसपास के गांव के लोगों को झेलनी पड़ रही है. जूतों को हाथ में लिए खड्ड को पार करने के अलावा दूसरा कोई विकल्प ग्रामीणों के पास नहीं है. इसे पार करने में सबसे ज्यादा परेशानियों का सामना स्कूली छात्र -छात्राओं को करना पड़ता है. इन क्षेत्रों में रहने वाले नौनिहाल शिक्षा प्राप्त करने के लिए खड्ड के दूसरी ओर बने फेगल स्कूल में पढ़ने के लिए पहुंचते हैं. ठंड के मौसम में नंगे पांव खड्ड को पार करना काफी मुश्किल हो जाता है, खड्ड में पाना अधिक होने पर अधिकतर स्कूली छात्र पुल के अभाव में कई दिनों तक स्कूल नहीं जा पाते. स्कूल जाना पड़ जाए तो फिर 6 किलोमीटर पैदल सफर करके स्कूल पहुंचना पड़ता है. इस खड्ड को पार करते वक्त एक युवक इसमें बह कर अपने प्राण गंवा चुका है लेकिन वावजूद इसके इन ग्रामीणों की सुध लेने वाला कोई नहीं है. (रिपोर्ट- वीरेंदर)

Latest Live TV
-->