होम » वीडियो » हिमाचल प्रदेश

VIDEO : फैक्ट्री बेचे जाने से आक्रोशित मजदूरों ने शुरू किया धरना-प्रदर्शन

सोलन News18 Himachal Pradesh| February 8, 2019, 11:05 PM IST

औद्योगिक क्षेत्र नालागढ़ के सल्लेवाल में प्रीति हिमाचल फिलिप्स कंपनी को मालिक द्वारा अन्य किसी व्यक्ति को बेचे जाने को लेकर प्रबंधन व मजदूरों के बीच विवाद 22वें दिन भी जारी है. मजदूरों ने अपनी मांगों को लेकर गुरुवार से धरना प्रदर्शन शुरू कर दिया. सल्लेवाल में 300 से ज्यादा वर्कर धरने पर बैठ गए. धरने के दौरान मजदूरों ने फैक्ट्री प्रबंधन के खिलाफ जमकर नारेबाजी की और और अपना रोष प्रदर्शन किया. मजदूरों का कहना है कि बीते 22 दिनों से अपनी मांगों को लेकर न्याय के लिए दर-दर की ठोकरें खा रहे हैं लेकिन फैक्ट्री प्रबंधन द्वारा उनका जमकर शोषण किया जा रहा है. फैक्ट्री प्रबंधन द्वारा रातों-रात फैक्ट्री को बेच दिया गया और 300 से ज्यादा मजदूर बेरोजगार होने की कगार पर आ चुके हैं. मजदूरों का कहना है कि अगर उनकी मांगें जल्द नहीं मानी गई तो वह आने वाले दिनों में धरना-प्रदर्शन को भूख हड़ताल में बदल देंगे. मजदूरों की मांग है कि या तो उन्हें कंपनी प्रबंधन एग्रीमेंट के हिसाब से नए प्लांट चेन्नई में ट्रांसफर करें. उनका फुल एंड फाइनल 58 सालों का हिसाब किया जाए.

Jagat Singh Bains
First published: February 8, 2019, 11:05 PM IST

औद्योगिक क्षेत्र नालागढ़ के सल्लेवाल में प्रीति हिमाचल फिलिप्स कंपनी को मालिक द्वारा अन्य किसी व्यक्ति को बेचे जाने को लेकर प्रबंधन व मजदूरों के बीच विवाद 22वें दिन भी जारी है. मजदूरों ने अपनी मांगों को लेकर गुरुवार से धरना प्रदर्शन शुरू कर दिया. सल्लेवाल में 300 से ज्यादा वर्कर धरने पर बैठ गए. धरने के दौरान मजदूरों ने फैक्ट्री प्रबंधन के खिलाफ जमकर नारेबाजी की और और अपना रोष प्रदर्शन किया. मजदूरों का कहना है कि बीते 22 दिनों से अपनी मांगों को लेकर न्याय के लिए दर-दर की ठोकरें खा रहे हैं लेकिन फैक्ट्री प्रबंधन द्वारा उनका जमकर शोषण किया जा रहा है. फैक्ट्री प्रबंधन द्वारा रातों-रात फैक्ट्री को बेच दिया गया और 300 से ज्यादा मजदूर बेरोजगार होने की कगार पर आ चुके हैं. मजदूरों का कहना है कि अगर उनकी मांगें जल्द नहीं मानी गई तो वह आने वाले दिनों में धरना-प्रदर्शन को भूख हड़ताल में बदल देंगे. मजदूरों की मांग है कि या तो उन्हें कंपनी प्रबंधन एग्रीमेंट के हिसाब से नए प्लांट चेन्नई में ट्रांसफर करें. उनका फुल एंड फाइनल 58 सालों का हिसाब किया जाए.

Latest Live TV