टमाटर की फसल ने तोड़े किसानों के सपने

सोलन06:12 PM IST Aug 27, 2018

सोलन में इस बार टमाटर का सीज़न बहुत खराब रहा. पिछले वर्ष किसानों को प्रति कैरेट टमाटर के जो दाम मिले उसके आधे भी नहीं मिल रहे हैं, जिसकी वजह से किसान हताश नज़र आ रहे हैं. इस बार टमाटर की फसल बेहद अच्छी हुई थी. किसान अच्छे मुनाफे की उम्मीद कर रहे थे लेकिन उनकी सभी उम्मीदों पर पानी फिर गया है. शुरुआत में किसानों को अच्छे दाम मिल रहे थे लेकिन जैसे ही दक्षिण भारत का टमाटर बाजार में आना शुरू हुआ तो हिमाचल के टमाटर की मांग घट गई जिसकी वजह से दाम भी गिर गए. सोलन एपीएमसी के सचिव प्रकाश कश्यप ने जानकारी देते हुए बताया कि किसान जब भी खेत में बिजाई करता है तो बिजाई से पहले उसे कृषि विभाग के विशेषज्ञ की सलाह ज़रूर ले लेनी चाहिए ताकि मंदी की मार से बचा जा सके. उन्होंने बताया की पिछले वर्ष किसानों को टमाटर की फसल के दाम बहुत अच्छे मिले थे और टमाटर के दाम सेब के बराबर पहुंच गए थे.

news18 hindi

सोलन में इस बार टमाटर का सीज़न बहुत खराब रहा. पिछले वर्ष किसानों को प्रति कैरेट टमाटर के जो दाम मिले उसके आधे भी नहीं मिल रहे हैं, जिसकी वजह से किसान हताश नज़र आ रहे हैं. इस बार टमाटर की फसल बेहद अच्छी हुई थी. किसान अच्छे मुनाफे की उम्मीद कर रहे थे लेकिन उनकी सभी उम्मीदों पर पानी फिर गया है. शुरुआत में किसानों को अच्छे दाम मिल रहे थे लेकिन जैसे ही दक्षिण भारत का टमाटर बाजार में आना शुरू हुआ तो हिमाचल के टमाटर की मांग घट गई जिसकी वजह से दाम भी गिर गए. सोलन एपीएमसी के सचिव प्रकाश कश्यप ने जानकारी देते हुए बताया कि किसान जब भी खेत में बिजाई करता है तो बिजाई से पहले उसे कृषि विभाग के विशेषज्ञ की सलाह ज़रूर ले लेनी चाहिए ताकि मंदी की मार से बचा जा सके. उन्होंने बताया की पिछले वर्ष किसानों को टमाटर की फसल के दाम बहुत अच्छे मिले थे और टमाटर के दाम सेब के बराबर पहुंच गए थे.

Latest Live TV