होम » वीडियो

एक दिन में कोरोना वायरस के 1 लाख मामलों के करीब पहुंचा भारत

देश News18Hindi| September 12, 2020, 11:31 PM IST

भारत (India) में कोरोना (Corona) का प्रकोप बढ़ता ही जा रहा है. देश में रोजाना कोरोना के 1 लाख मामलों का आंकड़ा करीब आता जा रहा है. इससे पहले 7 अगस्त 2020 को कोरोना मामले 20 लाख के पार पहुंच गए थे. 23 अगस्त 2020 को भारत में कोरोना के आंकड़े 30 लाख के पार पहुंच गए थे. 5 सितंबर 2020 को यह आंकड़ा 40 लाख के पार पहुंचा था. फिलहाल, भारत में अभी तक कोरोना के 45,62,414 कनफर्म मामले सामने आ चुके हैं और 76,271 लोगों की कोरोना से मृत्यु (Corona death) हुई चुकी है. दूसरी तरफ, भारत बायोटेक (Bharat Biotech) की कोवैक्सीन का जानवरों पर पहला ट्रायल सफल रहा है. कंपनी ने कहा कि ट्रायल के इस चरण में हमें अच्छे नतीजे मिले हैं. वहीं, सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया फार्मा की दिग्गज कंपनी एस्ट्राजेनेका के साथ मिलकर ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी (Oxford University) द्वारा बनाई गई 'कोवीशील्ड' कोरोना वैक्सीन की मैन्युफैक्चरिंग कर रहा है. कंपनी ने वैक्सीन के ट्रायल के लिए वॉलेंटियर का रिक्रूटमेंट रोक दिया है. एस्ट्राजेनेका ने 'कोवीशील्ड' कोरोना वैक्सीन का चारों देशों में ट्रायल भी रोक दिया है, क्योंकि वैक्सीन लेने वाले लोगों में एक अस्पष्ट बीमारी विकसित हो गई थी.

News18 Hindi
First published: September 12, 2020, 11:31 PM IST
Latest Live TV

फोटो

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

चिंता के विचार आपकी ख़ुशी को बर्बाद कर सकते हैं। ऐसा न होने दें, क्योंकि इनमें अच्छी चीज़ों को ख़त्म करने की और समझदारी में निराशा का ज़हरीला बीज बोने की क्षमता होती है। ख़ुद को हमेशा अच्छा परिणाम पाने के लिए प्रोत्साहित करें और ख़राब हालात में भी कुछ-न-कुछ अच्छा देखने का गुण विकसित करें। ख़ास लोग ऐसी किसी भी योजना में रुपये लगाने के लिए तैयार होंगे, जिसमें संभावना नज़र आए और विशेष हो। भूमि से जुड़ा विवाद लड़ाई में बदल सकता है। मामले को सुलझाने के लिए अपने माता-पिता की मदद लें। उनकी सलाह से काम करें, तो आप निश्चित तौर पर मुश्किल का हल ढूंढने में क़ामयाब रहेंगे। किसी से अचानक हुई रुमानी मुलाक़ात आपका दिन बना देगी। काम के लिए समर्पित पेशेवर लोग रुपये-पैसे और करिअर के मोर्चे पर फ़ायदे में रहेंगे। सफ़र के लिए दिन ज़्यादा अच्छा नहीं है। जीवनसाथी के ख़राब व्यवहार का नकारात्मक असर आपके ऊपर पड़ सकता है। स्वयंसेवी कार्य या किसी की मदद करना आपकी मानसिक शांति के लिए अच्छे टॉनिक का काम कर सकता है। परेशान? आप पंडित जी से प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें

टॉप स्टोरीज