लाइव टीवी
होम » वीडियो » झारखंड

VIDEO: चिड़काधाम की महिमा भी बाबाधाम देवघर के समान

झारखंड News18 Jharkhand| August 13, 2018, 5:27 PM IST

सावन मास की तीसरी सोमवारी को लेकर रविवार की देर शाम श्रद्धालु चाहे बच्चे, महिलाएं व पुरुष सभी गेरुआ वस्त्र धारण कर दामोदर और गरगा नदी पहुंचे औऱ आस्था व श्रद्धा के साथ पात्र में जल भरा और विधि विधान से पूजा कर चिड़काधाम पुरुलिया बंगाल के लिए रवाना हुए. चिड़काधाम पुरुलिया बंगाल स्थित शिव मंदिर की महिमा भी देवघर के समान माना जाता है. जो श्रद्धालु देवघर नहीं जा पाते हैं वे इस मंदिर में सावन में शिवालय पहुंचकर शिव का जलाभिषेक करते हैं. चास पुरुलिया पथ पर कल देर शाम ही बोलबम के नारों के साथ लोग पैदल और कई श्रद्धालु गाड़ी से रवाना हो गए. चास बोकारो से चिड़काधाम पुरुलिया 70 किमी की यात्रा कई श्रद्धालु पैदल ही चलकर पूरा करते हैं. गरगा नदी पर एसडीओ चास सतीश चंद्र, एसडीपीओ चास, विधायक की पत्नी नीना नारायण समेत अन्य गणमान्य अतिथियों ने कावंरियो को विदा किया.

Gyanendu Jaypuriar
First published: August 13, 2018, 5:27 PM IST

सावन मास की तीसरी सोमवारी को लेकर रविवार की देर शाम श्रद्धालु चाहे बच्चे, महिलाएं व पुरुष सभी गेरुआ वस्त्र धारण कर दामोदर और गरगा नदी पहुंचे औऱ आस्था व श्रद्धा के साथ पात्र में जल भरा और विधि विधान से पूजा कर चिड़काधाम पुरुलिया बंगाल के लिए रवाना हुए. चिड़काधाम पुरुलिया बंगाल स्थित शिव मंदिर की महिमा भी देवघर के समान माना जाता है. जो श्रद्धालु देवघर नहीं जा पाते हैं वे इस मंदिर में सावन में शिवालय पहुंचकर शिव का जलाभिषेक करते हैं. चास पुरुलिया पथ पर कल देर शाम ही बोलबम के नारों के साथ लोग पैदल और कई श्रद्धालु गाड़ी से रवाना हो गए. चास बोकारो से चिड़काधाम पुरुलिया 70 किमी की यात्रा कई श्रद्धालु पैदल ही चलकर पूरा करते हैं. गरगा नदी पर एसडीओ चास सतीश चंद्र, एसडीपीओ चास, विधायक की पत्नी नीना नारायण समेत अन्य गणमान्य अतिथियों ने कावंरियो को विदा किया.

Latest Live TV