लाइव टीवी
होम » वीडियो » झारखंड

VIDEO : राष्ट्रीय छऊ नृत्य प्रशिक्षण एवं अनुसंधान केंद्र का हुआ उद्घाटन, कलाकारों ने दी मनमोहक प्रस्तुति

झारखंड News18 Jharkhand| October 9, 2018, 9:15 PM IST

2010 में जब छऊ नृत्य को अंतर्राष्ट्रीय मान्यता मिली तब से छऊ केन्द्र खोलने का प्रयास किया जा रहा था. इसका सौभाग्य अब जाकर बोकारो जिला को मिला. बोकारो जिला के चंदनक्यारी प्रखंड में राष्ट्रीय छऊ नृत्य प्रशिक्षण एंव अनुसंधान केंद्र का उद्घाटन मंत्री अमर बाउरी और संगीत नाटक अकादमी के अध्यक्ष शेखर सेन ने संयुक्त रुप से किया. इस दौरान संगीत नाटक अकादमी के सदस्य डॉ संजय कुमार चौधरी, पदमश्री मुकुल आनंद, पदमश्री गोपाल दूबे, निदेशक कला संस्कृति अशोक कुमार, डीसी मृत्युजंय वरणवाल समेत बहुत से गणमान्य लोग शामिल हुए. उद्घाटन समारोह के उपरांत भारत सरकार औऱ राज्य सरकार के बीच इस केंद्र को लेकर एमओयू भी साईन किया गया ताकि इस केंद्र का संचालन किया जा सके. देश में यह पहला ऐसा संस्थान है जहां छऊ के विकास व इसके उत्थान को लेकर चर्चा होगी. कार्यक्रम का शुभारंभ मंत्री अमर बाउरी और संगीत नाटक अकादमी के अध्यक्ष शेखर सेन समेत अन्य गणमान्य अतिथियों ने द्वीप प्रज्ज्वलित कर किया. इस दौरान ओडिशा, बंगाल,और झारखंड के कलाकारों अपनी प्रस्तुतियां दीं. इससे पूर्व चंदनक्यारी पहुंचने पर अतिथियों का स्वागत कलाकारों ने छऊ नृत्य के साथ किया. सड़कों पर कलाकार अपना नृत्य के साथ आगे चल बढ़ रहे थे और पीछे मंत्री अमर बाउरी के साथ मुख्य अतिथि कार्यक्रम स्थल तक पैदल उनके पीछे चल रहे ते.संगीत नाटक अकादमी के अध्यक्ष शेखर सेन ने कहा कि चंदनक्यारी की पहचान अब देश में ही नहीं विश्व भर में होगी.

Gyanendu
First published: October 9, 2018, 9:15 PM IST

2010 में जब छऊ नृत्य को अंतर्राष्ट्रीय मान्यता मिली तब से छऊ केन्द्र खोलने का प्रयास किया जा रहा था. इसका सौभाग्य अब जाकर बोकारो जिला को मिला. बोकारो जिला के चंदनक्यारी प्रखंड में राष्ट्रीय छऊ नृत्य प्रशिक्षण एंव अनुसंधान केंद्र का उद्घाटन मंत्री अमर बाउरी और संगीत नाटक अकादमी के अध्यक्ष शेखर सेन ने संयुक्त रुप से किया. इस दौरान संगीत नाटक अकादमी के सदस्य डॉ संजय कुमार चौधरी, पदमश्री मुकुल आनंद, पदमश्री गोपाल दूबे, निदेशक कला संस्कृति अशोक कुमार, डीसी मृत्युजंय वरणवाल समेत बहुत से गणमान्य लोग शामिल हुए. उद्घाटन समारोह के उपरांत भारत सरकार औऱ राज्य सरकार के बीच इस केंद्र को लेकर एमओयू भी साईन किया गया ताकि इस केंद्र का संचालन किया जा सके. देश में यह पहला ऐसा संस्थान है जहां छऊ के विकास व इसके उत्थान को लेकर चर्चा होगी. कार्यक्रम का शुभारंभ मंत्री अमर बाउरी और संगीत नाटक अकादमी के अध्यक्ष शेखर सेन समेत अन्य गणमान्य अतिथियों ने द्वीप प्रज्ज्वलित कर किया. इस दौरान ओडिशा, बंगाल,और झारखंड के कलाकारों अपनी प्रस्तुतियां दीं. इससे पूर्व चंदनक्यारी पहुंचने पर अतिथियों का स्वागत कलाकारों ने छऊ नृत्य के साथ किया. सड़कों पर कलाकार अपना नृत्य के साथ आगे चल बढ़ रहे थे और पीछे मंत्री अमर बाउरी के साथ मुख्य अतिथि कार्यक्रम स्थल तक पैदल उनके पीछे चल रहे ते.संगीत नाटक अकादमी के अध्यक्ष शेखर सेन ने कहा कि चंदनक्यारी की पहचान अब देश में ही नहीं विश्व भर में होगी.

Latest Live TV