होम » वीडियो » झारखंड

VIDEO: गुमला में हाथी के हमले में एक की मौत, भय का माहौल

गुमला News18 Jharkhand| October 13, 2018, 10:51 PM IST

गुमला के भरनो सिसई की सीमा पर हाथी की सक्रियता से ग्रामीणो में भय का माहौल बना हुआ है हालांकि ग्रामीणों की सूचना पर वन बिभाग की टीम पहुंचकर हाथी को भगाने में लगी है. इलाके में जंगल से भटककर पहुंचे एक हाथी ने अब तक बामदा में एक ग्रामीण को मौत के घाट उतार दिया है जबकि छारदा में एक ग्रामीण को घायल कर दिया है. इलाके में हाथी के आगमन की सूचना से लोग काफी भयभीत हैं और रातों को जाग कर गुजार रहे हैं, तो दिन में जंगल की ओर खेतों पर नहीं जा रहे हैं. उनको हाथियों से लगातार हमले का बय सताता रहता है.इस इलाके में हाथी एकल या झुंड में इन दिनों हमला कर रहे हैं. वह किसी भी गांव में घुस आते हैं या जंगल से गुजरने वालों को अपनी सूंड में लपेट कर पटक देते हैं. किसी को अपने भारी पांव तले कुचलने में इन हाथियों को ज़रा भी दया नहीं आती है. कई बार जंगलों में लोगों के जिस्म इस तरह लोथड़ों में बिखरे मिले हैं कि जिन लोगों ने उनको देखा है, वह उस दृश्य को याद करके सिहर उठते हैं.इसे लोग जंगलों की लगतार कटाई और उसमें मनुष्य के बढ़ते दखल का परिणाम भी मान रहे हैं.

Sushil Kumar Singh
First published: October 13, 2018, 10:51 PM IST

गुमला के भरनो सिसई की सीमा पर हाथी की सक्रियता से ग्रामीणो में भय का माहौल बना हुआ है हालांकि ग्रामीणों की सूचना पर वन बिभाग की टीम पहुंचकर हाथी को भगाने में लगी है. इलाके में जंगल से भटककर पहुंचे एक हाथी ने अब तक बामदा में एक ग्रामीण को मौत के घाट उतार दिया है जबकि छारदा में एक ग्रामीण को घायल कर दिया है. इलाके में हाथी के आगमन की सूचना से लोग काफी भयभीत हैं और रातों को जाग कर गुजार रहे हैं, तो दिन में जंगल की ओर खेतों पर नहीं जा रहे हैं. उनको हाथियों से लगातार हमले का बय सताता रहता है.इस इलाके में हाथी एकल या झुंड में इन दिनों हमला कर रहे हैं. वह किसी भी गांव में घुस आते हैं या जंगल से गुजरने वालों को अपनी सूंड में लपेट कर पटक देते हैं. किसी को अपने भारी पांव तले कुचलने में इन हाथियों को ज़रा भी दया नहीं आती है. कई बार जंगलों में लोगों के जिस्म इस तरह लोथड़ों में बिखरे मिले हैं कि जिन लोगों ने उनको देखा है, वह उस दृश्य को याद करके सिहर उठते हैं.इसे लोग जंगलों की लगतार कटाई और उसमें मनुष्य के बढ़ते दखल का परिणाम भी मान रहे हैं.

Latest Live TV