होम » वीडियो » झारखंड

VIDEO : अनुसूचित जाति में शामिल करने के लिए धीवर जाति के लोगों ने किया प्रदर्शन

जमशेदपुर News18 Jharkhand| January 31, 2019, 9:43 PM IST

जमशेदपुर में धीवर समिति जाति के बैनर तले धीवर (केवट) जाति के हजारों लोगों ने उनको अनुसूचित जाति में शामिल किए जाने की मांग को लेकर विशाल प्रदर्शन रैली निकाली. सोनारी से ये रैली पैदल चलते हुए जिला मुख्यालय पहुंची. जहां इन लोगों ने उपायुक्त कार्यालय का घेराव कर अपना विरोध प्रदर्शन किया. प्रदर्शन के दौरान उन्होंने अपनी मांगों के आलोक में जिला मुख्यालय में जमकर रोष जताया. प्रदर्शन के उपरांत तीन सूत्री मांगपत्र राज्य के मुख्यमंत्री के नाम जिले के उपायुक्त को सौंपा गया. इस दौरान उन्होंने कहा कि केवल पूर्वी सिंहभूम जिले में धीवर जाति के लोगों की जनसंख्या एक लाख से ऊपर है. पूरे राज्य भर में यह संख्या कई लाख में है. इनका कहना है कि कई राज्यों में धीवर समाज को अनुसूचित जाति की श्रेणी में शामिल किया गया है लेकिन झारखंड में ऐसा नहीं है. इसका खामियाजा धीवर समाज के लोगों को भुगतना पड़ता है. अनुसूचित जाति की श्रेणी में शामिल करने से ही धीवर समाज के लोगों का सामाजिक शैक्षणिक और आर्थिक स्तर से उत्थान हो पाएगा.

Ashish Tiwari
First published: January 31, 2019, 9:43 PM IST

जमशेदपुर में धीवर समिति जाति के बैनर तले धीवर (केवट) जाति के हजारों लोगों ने उनको अनुसूचित जाति में शामिल किए जाने की मांग को लेकर विशाल प्रदर्शन रैली निकाली. सोनारी से ये रैली पैदल चलते हुए जिला मुख्यालय पहुंची. जहां इन लोगों ने उपायुक्त कार्यालय का घेराव कर अपना विरोध प्रदर्शन किया. प्रदर्शन के दौरान उन्होंने अपनी मांगों के आलोक में जिला मुख्यालय में जमकर रोष जताया. प्रदर्शन के उपरांत तीन सूत्री मांगपत्र राज्य के मुख्यमंत्री के नाम जिले के उपायुक्त को सौंपा गया. इस दौरान उन्होंने कहा कि केवल पूर्वी सिंहभूम जिले में धीवर जाति के लोगों की जनसंख्या एक लाख से ऊपर है. पूरे राज्य भर में यह संख्या कई लाख में है. इनका कहना है कि कई राज्यों में धीवर समाज को अनुसूचित जाति की श्रेणी में शामिल किया गया है लेकिन झारखंड में ऐसा नहीं है. इसका खामियाजा धीवर समाज के लोगों को भुगतना पड़ता है. अनुसूचित जाति की श्रेणी में शामिल करने से ही धीवर समाज के लोगों का सामाजिक शैक्षणिक और आर्थिक स्तर से उत्थान हो पाएगा.

Latest Live TV