KADAK
  • July 26, 2021, 12:45 AM IST
  • KADAK
fb fb

सुप्रीम कोर्ट के 4 पूर्व जज बोले- सरकार से असहमति को दबाने के लिए होता है राजद्रोह कानून का इस्तेमाल

सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) के 4 पूर्व जजों ने राजद्रोह कानून (Sedition Law) और गैरकानूनी गतिविधि (रोकथाम) अधिनियम (UAPA) को रद्द करने की हिमायत की है. पूर्व न्यायधीश आफताब आलम (Justice Aftab Alam), दीपक गुप्ता (Justice Deepak Gupta), मदन बी लोकुर (Justice Madan B Lokur) और गोपाल गौड़ा (Gopal Gowda) ने यह बात कही है. चारों पूर्व जजों ने कहा कि सरकार से सवाल पूछने वाली आवाजों को दबाने के लिए इन कानूनों का दुरुपयोग होता है. इस दौरान पूर्व न्यायधीशों ने 84 वर्षीय फादर स्टेन स्वामी की पुलिस हिरासत में मौत का ज़िक्र भी किया. पूर्व न्यायधीशों में से एक आफताब आलम ने कहा, UAPA ने हमें राष्ट्रीय सुरक्षा और संवैधानिक स्वतंत्रता पर नाकाम किया है. न्यायमूर्ति आलम ने कहा कि इन कानूनों के तहत मुकदमों की प्रक्रिया कई लोगों के लिए सजा बन जाती है. न्यायमूर्ति लोकुर ने कहा कि इन मामलों में फंसाए गए और बाद में बरी होने वाले लोगों के लिए मुआवजे की व्यवस्था होनी चाहिए. न्यायमूर्ति गुप्ता ने भी जस्टिस लोकुर की बात का समर्थन किया और कहा कि लोकतंत्र में इन कठोर कानूनों का कोई स्थान नहीं है. न्यायमूर्ति गौड़ा ने कहा कि ये कानून अब असहमति के खिलाफ एक हथियार बन गए हैं. उन्होंने कहा कि इन कानूनों को रद्द किए जाने की जरूरत है और विशेष सुरक्षा कानूनों में बड़े पैमाने पर सुधार होना चाहिए.देखिये लोकल खबरें, लोकल अंदाज़ में सिर्फ KADAK NEWS Channel परKADAK is an Indian Hindi news channel which provides local as well as national news 24*7 with detailed news coverage. KADAK also covers Local regional stories, Entertainment News, Political News, Election News, Sports News, Cricket and Lifestyle Updates.#UAPA #SeditionLaw #SupremeCourt #KADAKFollow us:Facebook:http://bit.ly/2lRMjaYWebsite: https://hindi.news18.com/Twitter: https://twitter.com/HindiNews18

और भी देखे

News18 Virals: Bihar

और भी देखें

News18 Virals: Rajasthan

और भी देखें

Khan Sir ki 'KADAK' Class

और भी देखें