KADAK
  • July 25, 2021, 12:47 AM IST
  • KADAK
fb fb

Mirabai Chanu का देश प्रेम, साथ रखती हैं वतन की मिट्टी, विदेश में खाती हैं गांव के चावल | Olympics

टोक्यो ओलंपिक (Tokyo Olympics) में वेटलिफ्टिंग में सिल्वर मेडल (Silver Medal in Weightlifting) जीतना मीराबाई चानू (Mirabai Chanu) के लिए इतना आसान नहीं था. दरअसल, 12 साल की उम्र में मीराबाई ने तीरंदाजी सीखने की ठानी थी. इसके लिए वो मणिपुर के इंफाल में भारतीय खेल प्राधिकरण के ऑफिस तक पहुंची थीं, लेकिन उन्हें वहां पर इसको लेकर कोई नहीं मिला. इसी दौरान, मीराबाई ने वेटलिफ्टर कुंजारानी देवी का एक वीडियो देखा था. इसी दिन से मीराबाई ने वेटलिफ्टर बनने का फैसला किया और 2006 में उन्होंने कोचिंग एकेडमी ज्वाइन कर ली. उनका कोचिंग सेंटर घर से 20 किलोमीटर दूर था और उन्हें ट्रक में लिफ्ट या साइकिल से कोचिंग सेंटर तक जाना होता था. तूफान और बारिश में भी उन्होंने कभी अपनी ट्रेनिंग नहीं छोड़ी. वेटलिफ्टर बनना मीराबाई के लिए इतना आसान नहीं था. उनके पिता सरकारी नौकरी करते थे, लेकिन सैलरी बहुत कम थी. मीराबाई को मिलाकर उनके 6 बहन-भाई हैं और उनके पिता के लिए सभी का पालन-पोषण आसान नहीं था, लेकिन बेटी के टैलेंट को देखते हुए मीराबाई के पिता ने उनकी ट्रेनिंग में कमी नहीं आने दी. मीराबाई ने 2014 में ग्लास्गो कॉमनवेल्थ गेम्स में सिल्वर मेडल जीता था. उन्होंने 2017 में वर्ल्ड चैंपियनशिप में गोल्ड मेडल जीतकर लोगों का दिल जीत लिया. 2018 कॉमनवेल्थ खेलों में भी चानू ने गोल्ड मेडल जीता था. 2020 में एशियन चैंपियनशिप में मीराबाई सिर्फ ब्रॉन्ज मेडल ही जीत पाई थीं.देखिये लोकल खबरें, लोकल अंदाज़ में सिर्फ KADAK NEWS Channel परKADAK is an Indian Hindi news channel which provides local as well as national news 24*7 with detailed news coverage. KADAK also covers Local regional stories, Entertainment News, Political News, Election News, Sports News, Cricket and Lifestyle Updates.#MirabaiChanu #TokyoOlympics2020 #IndiaTokyoOlympics #KADAKFollow us:Facebook:http://bit.ly/2lRMjaYWebsite: https://hindi.news18.com/Twitter: https://twitter.com/HindiNews18

और भी देखे

News18 Virals: Bihar

और भी देखें

News18 Virals: Rajasthan

और भी देखें

Khan Sir ki 'KADAK' Class

और भी देखें