KADAK
  • September 30, 2020, 6:01 PM IST
  • KADAK
fb fb

Babri Case: आडवाणी, जोशी पर फैसले के बाद जज Surendra Yadav हुए रिटायर, जानिए केस से जुड़ी बड़ी बातें

6 दिसंबर, 1992 को अयोध्या (Ayodhya) में विवादित ढांचा ढहाए जाने के आपराधिक मामले में विशेष अदालत ने लालकृष्ण आडवाणी (Lal krishna Advani, मुरली मनोहर जोशी (Murli Manohar Joshi), कल्याण सिंह (Kalyan singh) समेत सभी 32 अभियुक्तों को बरी कर दिया है. 28 साल बाद जज सुरेंद्र कुमार यादव की विशेष अदालत अपना फैसला सुनाया. जज ने फैसला पढ़ते हुए कहा कि ये विध्वंस पूर्व नियोजित नहीं था बल्कि घटना अचानक हुई थी. इस मामले में 49 लोगों को अभियुक्त बनाया गया था. इसमें से 17 की मौत हो चुकी है.A special court has ruled that the demolition of the Babri Masjid in 1992 was not preplanned, acquitting senior leaders from the governing Bharatiya Janata Party (BJP) over a lack of evidence. CBI announced the verdict in the 28-year-old case involving 32 accused.देखिये लोकल खबरें, लोकल अंदाज़ में सिर्फ KADAK NEWS Channel परKADAK is an Indian Hindi news channel which provides local as well as national news 24*7 with detailed news coverage. KADAK also covers Local regional stories, Entertainment News, Political News, Election News, Sports News, Cricket and Lifestyle Updates.#KADAKFollow us:Facebook:http://bit.ly/2lRMjaYWebsite: https://hindi.news18.com/Twitter: https://twitter.com/HindiNews18

और भी देखे

India China Border (LAC) News

और भी देखें

पांडे जी POLITICAL हैं

और भी देखें

Gangs Of पूर्वांचल। Special Series

और भी देखें