लाइव टीवी
होम » वीडियो

केदारनाथ त्रासदी : एक साल बाद भी रुक रहा आंसुओं का सैलाब

उत्तर प्रदेश ETV UP/Uttarakhand| June 16, 2014, 11:20 PM IST

उत्तराखण्ड तबाही को आज एक साल पुरा हो चुका है, लेकिन लोगों को आज भी अपनों का इंतजार है। देवरिया जिले के यु तो बहुत लोग उत्तराखण्ड के त्रासदी में काल कवलित हो चुके हैं। लेकिन जिले का एक ऐसा परिवार है जिनकी लड़कियों की शादी नहीं हो पा रही है। दरअसल देवरिया जिले के बहादुरपुर गांव के रहने वाले दिवाकरमणि पिछले साल केदारनाथ धाम गए थे जो आज तक लौट कर नहीं आए। आज जब इस परिवार को वह मंजर याद आता है तो आंखों से आंसुओं का सैलाब रुकने का नाम नहीं लेता है। मृतक दिवाकर मणि की छह लड़कियां है जिनके हाथ कौन पीले करेगा यह एक बड़ी समस्या बनी हुई है क्योंकि दिवाकर मणि ही परिवार में कमाते थे। हालांकि उत्तराखण्ड सरकार ने मृत्यु प्रमाण पत्र जारी कर के खाना पूर्ति तो जरूर कर ली है लेकिन सरकार से मिलने वाले मुवावजे का आज भी उन्हें इंतजार है।

News18india.com
First published: June 16, 2014, 11:20 PM IST

उत्तराखण्ड तबाही को आज एक साल पुरा हो चुका है, लेकिन लोगों को आज भी अपनों का इंतजार है। देवरिया जिले के यु तो बहुत लोग उत्तराखण्ड के त्रासदी में काल कवलित हो चुके हैं। लेकिन जिले का एक ऐसा परिवार है जिनकी लड़कियों की शादी नहीं हो पा रही है। दरअसल देवरिया जिले के बहादुरपुर गांव के रहने वाले दिवाकरमणि पिछले साल केदारनाथ धाम गए थे जो आज तक लौट कर नहीं आए। आज जब इस परिवार को वह मंजर याद आता है तो आंखों से आंसुओं का सैलाब रुकने का नाम नहीं लेता है। मृतक दिवाकर मणि की छह लड़कियां है जिनके हाथ कौन पीले करेगा यह एक बड़ी समस्या बनी हुई है क्योंकि दिवाकर मणि ही परिवार में कमाते थे। हालांकि उत्तराखण्ड सरकार ने मृत्यु प्रमाण पत्र जारी कर के खाना पूर्ति तो जरूर कर ली है लेकिन सरकार से मिलने वाले मुवावजे का आज भी उन्हें इंतजार है।

Latest Live TV