होम » वीडियो » नॉलेज

दिल्ली से पहले लंदन में छाया था सबसे खतरनाक स्मॉग

नॉलेज News18Hindi| November 12, 2018, 3:43 PM IST

आतिशबाजी के प्रदूषण और स्मॉग के चलते दिल्ली-एनसीआर में हाल बुरे हैं. दुनिया में स्मॉग से पहली बार ऐसे हालात नहीं हुए हैं. इससे खतरनाक स्मॉग का झटका युनाइटेड किंगडम के लंदन शहर ने झेला है. ऐसा कहर जिसने एक दिन के अंदर हजारों लोगों को मौत के घाट उतार दिया था. जानिए क्या है द ग्रेट स्मॉग ऑफ लंदन? 5 से 9 दिसंबर 1952 के दौरान लंदन में स्मॉग की काली चादर बिछ गई थी. प्रदूषण ने लोगों को दम घोंटना शुरू कर दिया था. एक दिन में इस स्मॉग के चलते 4000 लोगों की जान चली गई थी. लाख से ज्यादा लोग इससे बुरी तरह बीमार हो गए थे. इस स्मॉग का शिकार सबसे ज्यादा बच्चे और बुजुर्ग बने थे. स्मॉग और कोहरे के मिश्रण ने शहर को गैस चैंबर में बदल दिया. मेट्रो को छोड़कर सभी सार्वजनिक परिवहन को बंद कर दिया गया. खुले में होने वाले सभी कार्यक्रमों को रद्द कर दिया गया. कुल मिलाकर इमरजेंसी के से हालात थे.

news18 hindi
First published: November 12, 2018, 3:43 PM IST

आतिशबाजी के प्रदूषण और स्मॉग के चलते दिल्ली-एनसीआर में हाल बुरे हैं. दुनिया में स्मॉग से पहली बार ऐसे हालात नहीं हुए हैं. इससे खतरनाक स्मॉग का झटका युनाइटेड किंगडम के लंदन शहर ने झेला है. ऐसा कहर जिसने एक दिन के अंदर हजारों लोगों को मौत के घाट उतार दिया था. जानिए क्या है द ग्रेट स्मॉग ऑफ लंदन? 5 से 9 दिसंबर 1952 के दौरान लंदन में स्मॉग की काली चादर बिछ गई थी. प्रदूषण ने लोगों को दम घोंटना शुरू कर दिया था. एक दिन में इस स्मॉग के चलते 4000 लोगों की जान चली गई थी. लाख से ज्यादा लोग इससे बुरी तरह बीमार हो गए थे. इस स्मॉग का शिकार सबसे ज्यादा बच्चे और बुजुर्ग बने थे. स्मॉग और कोहरे के मिश्रण ने शहर को गैस चैंबर में बदल दिया. मेट्रो को छोड़कर सभी सार्वजनिक परिवहन को बंद कर दिया गया. खुले में होने वाले सभी कार्यक्रमों को रद्द कर दिया गया. कुल मिलाकर इमरजेंसी के से हालात थे.

Latest Live TV