लाइव टीवी
होम » वीडियो » मध्य प्रदेश

यह सब-इंस्‍पेक्‍टर नाक से खोजता था ड्रग और विस्‍फोटक, रिटायरमेंट पर भव्‍य विदाई

बैतूल News18 Madhya Pradesh| February 10, 2019, 2:21 PM IST

मध्यप्रदेश के बैतूल में 10 साल आरपीएफ में सेवाएं देने के बाद एक जाबांज सिपाही आज रिटायर हुआ है. रियल लाइल का ये वर्दी वाला हीरो कोई इंसान नहीं, बल्कि आरपीएफ में सब इंस्पेक्टर रहा स्निफर डॉग टाइगर है. मध्यप्रदेश में पहली बार किसी डॉग को इस तहर का फेयरवेल दिया गया है. आखिरी बार वर्दी में निकले टाइगर को विदाई देने हुए, जहां सबकी आंखे नम हो गई, वहीं उसकी कस्टडी लेने आये नागपुर के एक एनजीओं ने बताया कि रिटायर होने के बाद इस तरह के जाबांज डॉग दो साल भी नहीं जी पाते. दस साल से टाइगर के हैंडलर रहे सुदामा पाटीदार बताते हैं कि टाइगर ने दस साल तक बेहद कुशलता के साथ अपनी ड्यूटी निभाई है. नारकोटिक्स और विस्फोटक खोजने में वो बेहद एक्सपर्ट है.

Rishu Naidu
First published: February 10, 2019, 2:12 PM IST

मध्यप्रदेश के बैतूल में 10 साल आरपीएफ में सेवाएं देने के बाद एक जाबांज सिपाही आज रिटायर हुआ है. रियल लाइल का ये वर्दी वाला हीरो कोई इंसान नहीं, बल्कि आरपीएफ में सब इंस्पेक्टर रहा स्निफर डॉग टाइगर है. मध्यप्रदेश में पहली बार किसी डॉग को इस तहर का फेयरवेल दिया गया है. आखिरी बार वर्दी में निकले टाइगर को विदाई देने हुए, जहां सबकी आंखे नम हो गई, वहीं उसकी कस्टडी लेने आये नागपुर के एक एनजीओं ने बताया कि रिटायर होने के बाद इस तरह के जाबांज डॉग दो साल भी नहीं जी पाते. दस साल से टाइगर के हैंडलर रहे सुदामा पाटीदार बताते हैं कि टाइगर ने दस साल तक बेहद कुशलता के साथ अपनी ड्यूटी निभाई है. नारकोटिक्स और विस्फोटक खोजने में वो बेहद एक्सपर्ट है.

Latest Live TV