मधुबनी: जिस नदी ने कहर बरपाया..अब उसकी पूजा-अर्चना में जुटे हैं लोग

OMGJuly 18, 2019, 7:02 PM IST

मधुबनी जिले में बाढ़ पीड़ित परिवार रोजाना शाम दिया जला कर कमला मां से अर्चना कर रहे हैं कि हे मां अब कष्ट नहीं सहा जा रहा, परिवार के छोटे-छोटे बच्चों पर रहम करो. मधुबनी जिले के झंझारपुर में इस साल कमला नदी के तटबंध टूटने से भयानक तबाही हुई है. तबाही के मंजर में गांव वाले लोग अब कमला नदी के किनारे हो कर पूजा-अर्चना में लगे हैं. बाढ़ पीड़ितों को सरकार और प्रशासन पर जितना भरोसा नहीं है उतनी ही आस्था कमला नदी पर है. तीन जगह तटबंध टूटने से सैलाब आया और अब पानी घट रहा है लेकिन लगातार याचनाओं का दौर जारी है. याचना में लगे ग्रामीण बताते हैं कि सालों की ये परंपरा उन्हें विरासत में मिली है और उनकी याचना का ही असर है कि अब कमला नदी मुख्यधारा में लौट रही है और सैलाब का असर कम हो रहा है.

news18 hindi

मधुबनी जिले में बाढ़ पीड़ित परिवार रोजाना शाम दिया जला कर कमला मां से अर्चना कर रहे हैं कि हे मां अब कष्ट नहीं सहा जा रहा, परिवार के छोटे-छोटे बच्चों पर रहम करो. मधुबनी जिले के झंझारपुर में इस साल कमला नदी के तटबंध टूटने से भयानक तबाही हुई है. तबाही के मंजर में गांव वाले लोग अब कमला नदी के किनारे हो कर पूजा-अर्चना में लगे हैं. बाढ़ पीड़ितों को सरकार और प्रशासन पर जितना भरोसा नहीं है उतनी ही आस्था कमला नदी पर है. तीन जगह तटबंध टूटने से सैलाब आया और अब पानी घट रहा है लेकिन लगातार याचनाओं का दौर जारी है. याचना में लगे ग्रामीण बताते हैं कि सालों की ये परंपरा उन्हें विरासत में मिली है और उनकी याचना का ही असर है कि अब कमला नदी मुख्यधारा में लौट रही है और सैलाब का असर कम हो रहा है.

Latest Live TV