लाइव टीवी
होम » वीडियो » मध्य प्रदेश

VIDEO: फर्जी शिक्षकों का मामला, 41 शिक्षक बर्खास्त, 3 के खिलाफ केस दर्ज

बुरहानपुर News18 Madhya Pradesh| December 29, 2018, 3:52 PM IST

मध्य प्रदेश के बुरहानपुर के ग्रामीण क्षेत्रों में वर्ष 2008 में 100 के करीब फर्जी शिक्षकों की नियुक्ति व कथित शिक्षकों द्वारा अनुपस्थित रहकर वेतन आहरण का घोटाला अब मिनी व्यापम का रूप लेता जा रहा है. जिला प्रशासन ने अब तक 41 शिक्षकों को बर्खास्त कर 3 शिक्षकों के प्रमाण पत्र कुटरचित पाए जाने पर एफआईआर के लिए पुलिस को लिखा है. जांच अधिकारी जिला पंचायत सीईओ ने दावा किया कि इस घोटाले में शामिल किसी को भी बक्शा नहीं जाएगा, उधर कांग्रेस पहले ही इस पूरे मामले की एसआईटी के द्वारा जांच कराने की शासन से मांग कर चुकी है. फर्जी शिक्षकों की शिकायत जिला प्रशासन को पहुंचने पर प्रशासन के कान खडे हो गए. जिला पंचायत सीईओ ने शिकायत की जांच कराई तो 41 शिकायती शिक्षक अपने दस्तावेजों का सत्यापन नहीं कराने पहुंचे व कुछ ने इस्तीफा दे दिया. इस तरह प्रशासन ने अब तक 41 शिक्षकों को बर्खास्त कर उन्हें रिकवरी के नोटिस दे दिए है. जांच दल को जिन शिक्षकों के प्रमाण पत्र संदिग्ध दिख रहे है उनका सत्यापन कराने व्यापम को भेज जा रहे हैं. फिलहाल तीन शिक्षकों के प्रमाण पत्र कुटरचित पाए जाने पर उनके खिलाफ एफआईआर के लिए लिखी गया है.

Sharik Akhtar Durrani
First published: December 29, 2018, 3:52 PM IST

मध्य प्रदेश के बुरहानपुर के ग्रामीण क्षेत्रों में वर्ष 2008 में 100 के करीब फर्जी शिक्षकों की नियुक्ति व कथित शिक्षकों द्वारा अनुपस्थित रहकर वेतन आहरण का घोटाला अब मिनी व्यापम का रूप लेता जा रहा है. जिला प्रशासन ने अब तक 41 शिक्षकों को बर्खास्त कर 3 शिक्षकों के प्रमाण पत्र कुटरचित पाए जाने पर एफआईआर के लिए पुलिस को लिखा है. जांच अधिकारी जिला पंचायत सीईओ ने दावा किया कि इस घोटाले में शामिल किसी को भी बक्शा नहीं जाएगा, उधर कांग्रेस पहले ही इस पूरे मामले की एसआईटी के द्वारा जांच कराने की शासन से मांग कर चुकी है. फर्जी शिक्षकों की शिकायत जिला प्रशासन को पहुंचने पर प्रशासन के कान खडे हो गए. जिला पंचायत सीईओ ने शिकायत की जांच कराई तो 41 शिकायती शिक्षक अपने दस्तावेजों का सत्यापन नहीं कराने पहुंचे व कुछ ने इस्तीफा दे दिया. इस तरह प्रशासन ने अब तक 41 शिक्षकों को बर्खास्त कर उन्हें रिकवरी के नोटिस दे दिए है. जांच दल को जिन शिक्षकों के प्रमाण पत्र संदिग्ध दिख रहे है उनका सत्यापन कराने व्यापम को भेज जा रहे हैं. फिलहाल तीन शिक्षकों के प्रमाण पत्र कुटरचित पाए जाने पर उनके खिलाफ एफआईआर के लिए लिखी गया है.

Latest Live TV