VIDEO: एक ऐसी परंपरा जिसमें योद्धाओं ने एक-दूसरे पर छोड़े अग्निबाण

इंदौर01:55 PM IST Nov 09, 2018

मध्यप्रदेश के गौतमपुरा में दीपावली के दूसरे दिन गोवर्धन पूजा के अवसर पर शहर में परंपरागत हिंगोट युद्ध का आयोजन किया गया.जिसमें सैकड़ों लोगों ने भाग लिया. आस्था और परम्परा के नाम पर होने वाले इस हिंगोट युद्ध में दोनों ओर से जमकर अग्निबाण चले. हिंगोट युद्ध के दौरान 27 से ज्यादा लोग घायल हुए. परंपरागत हो रहे इस युद्ध बनाम खेल का ना कोई आयोजक है और ना ही कोई प्रयोजक. फिर भी हजारों की तादाद में इस युद्ध के रोमांच को देखने देश भर से लोग यहां आते हैं.बता दें कि चुनावी आचार संहिता के चलते पहले हिंगोट युद्ध में प्रशासनिक रोड़े नजर आ रहे थे. लेकिन कुछ दिनों पहले हिंगोट योद्धाओं ने प्रशासन को चेतावनी दी थी, कि अगर हिंगोट नहीं, तो वोट नहीं, उसी को लेकर प्रशासन ने युद्ध की अनुमति दी और आखिरकार प्रशासन पर परंपरा भारी रही और इस युद्ध की पूरी तैयारियां प्रशासन ने जुटाई. जिसकी देखरेख के लिए 400 से ज्यादा पुलिस कर्मियों को बुलाया गया और इस परंपरा का निर्वाह किया गया.

news18 hindi

मध्यप्रदेश के गौतमपुरा में दीपावली के दूसरे दिन गोवर्धन पूजा के अवसर पर शहर में परंपरागत हिंगोट युद्ध का आयोजन किया गया.जिसमें सैकड़ों लोगों ने भाग लिया. आस्था और परम्परा के नाम पर होने वाले इस हिंगोट युद्ध में दोनों ओर से जमकर अग्निबाण चले. हिंगोट युद्ध के दौरान 27 से ज्यादा लोग घायल हुए. परंपरागत हो रहे इस युद्ध बनाम खेल का ना कोई आयोजक है और ना ही कोई प्रयोजक. फिर भी हजारों की तादाद में इस युद्ध के रोमांच को देखने देश भर से लोग यहां आते हैं.बता दें कि चुनावी आचार संहिता के चलते पहले हिंगोट युद्ध में प्रशासनिक रोड़े नजर आ रहे थे. लेकिन कुछ दिनों पहले हिंगोट योद्धाओं ने प्रशासन को चेतावनी दी थी, कि अगर हिंगोट नहीं, तो वोट नहीं, उसी को लेकर प्रशासन ने युद्ध की अनुमति दी और आखिरकार प्रशासन पर परंपरा भारी रही और इस युद्ध की पूरी तैयारियां प्रशासन ने जुटाई. जिसकी देखरेख के लिए 400 से ज्यादा पुलिस कर्मियों को बुलाया गया और इस परंपरा का निर्वाह किया गया.

Latest Live TV