VIDEO: आजादी के परवानों की याद दिलाता है यह बरगद का पेड़

मंडलाAugust 15, 2018, 1:39 PM IST

मध्यप्रदेश के आदिवासी बहुल मंडला जिले में एक बरगद का पेड़ है जो अंग्रेजों के जुल्मों और आजादी के परवानों के किस्सों की याद दिलाता है. सैंकड़ों सालों से खड़ा यह बरगद का पेड़ सन 1857 की क्रांति से लेकर अंग्रेजों के जुल्मों की यादों को संजोये हुए हैं. इस पेड़ पर आज भी फांसी के फंदे के काम आने वाले लोहे के मोटे शिकंज कसे हुए हैं. 1857 की क्रांति के दौरान अंग्रेजों ने बगावत को रोकने के लिए 24 लोगों को इसी पेड़ से फांसी पर लटकाया था. मंडला के गोंड राजाओं और स्वतंत्रता संग्राम के जानकार बताते हैं की यहां अंग्रेजों का बनाया हुआ जेल भी है, जो कि स्वतंत्रता सेनानियों के बलिदान का गवाह है.

news18 hindi

मध्यप्रदेश के आदिवासी बहुल मंडला जिले में एक बरगद का पेड़ है जो अंग्रेजों के जुल्मों और आजादी के परवानों के किस्सों की याद दिलाता है. सैंकड़ों सालों से खड़ा यह बरगद का पेड़ सन 1857 की क्रांति से लेकर अंग्रेजों के जुल्मों की यादों को संजोये हुए हैं. इस पेड़ पर आज भी फांसी के फंदे के काम आने वाले लोहे के मोटे शिकंज कसे हुए हैं. 1857 की क्रांति के दौरान अंग्रेजों ने बगावत को रोकने के लिए 24 लोगों को इसी पेड़ से फांसी पर लटकाया था. मंडला के गोंड राजाओं और स्वतंत्रता संग्राम के जानकार बताते हैं की यहां अंग्रेजों का बनाया हुआ जेल भी है, जो कि स्वतंत्रता सेनानियों के बलिदान का गवाह है.

Latest Live TV