होम » वीडियो » मध्य प्रदेश

VIDEO:अजीबो गरीब हंसी बनी मुसीबत,ओम प्रकाश को धोना पड़ा कई नौकरी से हाथ

पन्‍ना News18 Madhya Pradesh| July 31, 2018, 9:05 PM IST

पन्ना के एक शख्स ओमप्रकाश मिश्रा की अजीबो गरीब हंसी कहीं लोगों के लिए मनोरंजन का साधन है तो कहीं लोग उसको अचरज से देखते हैं.कहते हैं कि हंसना स्वास्थ्य के लिए लाभदायक होता है और हंसने से मनुष्य के शरीर में खून बढ़ता है लेकिन ओमप्रकाश मिश्रा की हंसी ही उनके लिए मुसीबत बन खड़ी हो जाती है.इनकी हंसी के कारण इन्हें कई नौकरियों से भी हाथ धोना पड़ा है लेकिन इसके बावजूद भी ओमप्रकाश को कोई कुछ कहता है तो उसको बुरा नहीं लगता है.वह कहता है कि हरदम हंसता रहूंगा भले ही नुकसान हो या फायदा.वहीं नगर के कुछ दुकानदारों का कहना है कि ओमप्रकाश के उनके दुकान पर पहुंचते ही लोगों का तांता लग जाता है और उसके आने से दुकान की बिक्री में इजाफा हो जाता है. एक होटल के संचालक शंकर सिंह के मुताबिक वह ओम प्रकाश को दो समोसे खिलाते हैं और दिलो जान से इन्हें हंसाते भी हैं क्योंकि एक बार ओम प्रकाश के हंसना शुरू किया तो बस फिर लोग जुटने लगे हैं.वहीं डॉक्टरों का इस बारे में कहना है कि यह कोई बीमारी नहीं है.हो सकता है ओम प्रकाश ने बचपन में किसी की नकल की हो और धीरे-धीरे इसके आदत में शुमार हो गया हो.यह स्वाभाविक सी बात है.

Sanjay Tiwari
First published: July 31, 2018, 9:05 PM IST

पन्ना के एक शख्स ओमप्रकाश मिश्रा की अजीबो गरीब हंसी कहीं लोगों के लिए मनोरंजन का साधन है तो कहीं लोग उसको अचरज से देखते हैं.कहते हैं कि हंसना स्वास्थ्य के लिए लाभदायक होता है और हंसने से मनुष्य के शरीर में खून बढ़ता है लेकिन ओमप्रकाश मिश्रा की हंसी ही उनके लिए मुसीबत बन खड़ी हो जाती है.इनकी हंसी के कारण इन्हें कई नौकरियों से भी हाथ धोना पड़ा है लेकिन इसके बावजूद भी ओमप्रकाश को कोई कुछ कहता है तो उसको बुरा नहीं लगता है.वह कहता है कि हरदम हंसता रहूंगा भले ही नुकसान हो या फायदा.वहीं नगर के कुछ दुकानदारों का कहना है कि ओमप्रकाश के उनके दुकान पर पहुंचते ही लोगों का तांता लग जाता है और उसके आने से दुकान की बिक्री में इजाफा हो जाता है. एक होटल के संचालक शंकर सिंह के मुताबिक वह ओम प्रकाश को दो समोसे खिलाते हैं और दिलो जान से इन्हें हंसाते भी हैं क्योंकि एक बार ओम प्रकाश के हंसना शुरू किया तो बस फिर लोग जुटने लगे हैं.वहीं डॉक्टरों का इस बारे में कहना है कि यह कोई बीमारी नहीं है.हो सकता है ओम प्रकाश ने बचपन में किसी की नकल की हो और धीरे-धीरे इसके आदत में शुमार हो गया हो.यह स्वाभाविक सी बात है.

Latest Live TV