होम » वीडियो » मध्य प्रदेश

VIDEO:गरीब किसान को खुद बैल की जगह लग जोतना पड़ रहा खेत

सतना News18 Madhya Pradesh| August 1, 2018, 9:09 PM IST

मध्य प्रदेश के सतना जिले के एक गांव कृष्णगढ़ की दर्दनाक तस्वीर सामने आई है.यहां किसान अपने परिवार का पेट पालने के लिए खेत में बैलों की जगह खुद को जोते हुए है.एक इंसान जो अपने परिवार की खातिर जानवर बना हुआ है.हरिजन बृजलाल साकेत का परिवार इन दिनों धान की पैदावार के लिए अपने आधा बीघा जमीन में धान की रोपाई के लिए खेत तैयार कर रहा है यनि धान बोन के पूर्व खेत को कीचड़ मचा रहा है ताकि बुआई की प्रक्रिया हो सके.आम तौर पर साधन संपन्न लोग ट्रैक्टर या फिर बैल के माध्यम से खेत में कीचड़ करते हैं.ब्रजलाल के पास बैल थे जो परलोक सिधार गए.उस पर बृजलाल साकेत की माली हालत ठीक न होने के चलते वो नए बैल खरीदने का सामर्थ्य नहीं जुटा सका नतीजा.इसलिए अपने परिवार सहित खेत में खुद बैल बना हुआ है. बृजलाल के पास पूरा घर पालने की जिम्मेदारी है लिहाजा उसका पूरा परिवार इस काम में सहयोग कर रहा है.हाल ही में इस गांव से होकर सीएम का जन आशीर्वाद रथ भी गुजरा चुका है लेकिन सभा और यात्रा में किसान की योजना सिमट कर रह गई.धरातल पर किसान आज भी परेशान हैं,इसका उदाहरण बृजलाल साकेत खुद है.प्रभारी मंत्री ओमप्रकाश धुर्वे ने इस किसान की जानकारी मिलने पर फिलहाल मदद का आश्वासन दिया है.

Shivendra Singh Parmar
First published: August 1, 2018, 9:09 PM IST
Latest Live TV

फोटो

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

चिंता के विचार आपकी ख़ुशी को बर्बाद कर सकते हैं। ऐसा न होने दें, क्योंकि इनमें अच्छी चीज़ों को ख़त्म करने की और समझदारी में निराशा का ज़हरीला बीज बोने की क्षमता होती है। ख़ुद को हमेशा अच्छा परिणाम पाने के लिए प्रोत्साहित करें और ख़राब हालात में भी कुछ-न-कुछ अच्छा देखने का गुण विकसित करें। ख़ास लोग ऐसी किसी भी योजना में रुपये लगाने के लिए तैयार होंगे, जिसमें संभावना नज़र आए और विशेष हो। भूमि से जुड़ा विवाद लड़ाई में बदल सकता है। मामले को सुलझाने के लिए अपने माता-पिता की मदद लें। उनकी सलाह से काम करें, तो आप निश्चित तौर पर मुश्किल का हल ढूंढने में क़ामयाब रहेंगे। किसी से अचानक हुई रुमानी मुलाक़ात आपका दिन बना देगी। काम के लिए समर्पित पेशेवर लोग रुपये-पैसे और करिअर के मोर्चे पर फ़ायदे में रहेंगे। सफ़र के लिए दिन ज़्यादा अच्छा नहीं है। जीवनसाथी के ख़राब व्यवहार का नकारात्मक असर आपके ऊपर पड़ सकता है। स्वयंसेवी कार्य या किसी की मदद करना आपकी मानसिक शांति के लिए अच्छे टॉनिक का काम कर सकता है। परेशान? आप पंडित जी से प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें

टॉप स्टोरीज