VIDEO: हथियार लाइसेंस को लेकर आरोपों के घेरे में श्योपुर कलेक्टर

मध्य प्रदेश02:40 PM IST Sep 12, 2018

डकैतों से समये आत्मरक्षा के लिए बंदूक रखना मजबूरी हुआ करती थी, लेकिन अब लोग शौक के लिए लाइसेंसी बंदूके ले रहे हैं. यही शौक लोगों के लिए काल साबित हो रहा है. शादियों में अब बंदूकों से हर्ष फायरिंग करना आम हो गया है. इन्हीं हर्ष फायरिंग में कई लोगों की जान चली गई है. श्योपुर में कलेक्टर सौरभ कुमार ने करीब 30 लोगों को बंदूक के लाइसेंस दिए हैं और करीब ढाई सौ आवेदकों को बंदूक का लाइसेंस देने जा रही है. बताया जा रहा है कि दलाल से सेटिंग करके लोग 50 से 80 हजार रुपये में कलेक्टर द्वारा लाइसेंस बनवा रहे हैं. आरोप-प्रत्यारोप एक अलग बात हैं, लेकिन चुनावी साल को देखते हुए कई जिलों में हथियारों के लाइसेंस निरस्त किये जाने की कार्रवाई देखने को मिल रही है, लेकिन श्योपुर जैसे शांत जिले में शस्त्र लाइसेंस देना कलेक्टर की कार्यप्रणाली पर सवाल खड़े कर रहा है.

Deepak dandotiya

डकैतों से समये आत्मरक्षा के लिए बंदूक रखना मजबूरी हुआ करती थी, लेकिन अब लोग शौक के लिए लाइसेंसी बंदूके ले रहे हैं. यही शौक लोगों के लिए काल साबित हो रहा है. शादियों में अब बंदूकों से हर्ष फायरिंग करना आम हो गया है. इन्हीं हर्ष फायरिंग में कई लोगों की जान चली गई है. श्योपुर में कलेक्टर सौरभ कुमार ने करीब 30 लोगों को बंदूक के लाइसेंस दिए हैं और करीब ढाई सौ आवेदकों को बंदूक का लाइसेंस देने जा रही है. बताया जा रहा है कि दलाल से सेटिंग करके लोग 50 से 80 हजार रुपये में कलेक्टर द्वारा लाइसेंस बनवा रहे हैं. आरोप-प्रत्यारोप एक अलग बात हैं, लेकिन चुनावी साल को देखते हुए कई जिलों में हथियारों के लाइसेंस निरस्त किये जाने की कार्रवाई देखने को मिल रही है, लेकिन श्योपुर जैसे शांत जिले में शस्त्र लाइसेंस देना कलेक्टर की कार्यप्रणाली पर सवाल खड़े कर रहा है.

Latest Live TV