नक्सलवाद से लोहा लेने के लिए बस्तर में जल्द ही नागा बटालियन की तैनाती होगी। इससे पहले बस्तर में तैनात हो चुकी नागा बटालियन के अच्छे परिणामों को देखते हुए बस्तर में चार नागा बटालियनों को तैनात करने का फैसला लिया गया है। आने वाले दिनों में नागा जवान नक्सलियों से दो-दो हाथ करते नजर आएंगे। आपको बता दें कि साल 2004 में नागा बटालियन को बस्तर में नक्सलियों से लड़ने के लिए तैनात किया गया था, जिसके अच्छे परिणाम उस दौरान मिले थे। साथ ही अब तक जितना दूसरी फोर्सों को नक्सलियों से नुकसान हुआ, वैसा कोई भी नुकसान नागा बटालियन को नहीं हुआ। सबसे खास बात ये है कि नक्सलियों की नीति से लड़ने की तकनीक नागा बटालियन के जवान बखूबी जानते हैं। इसलिए माना जा रहा है कि बस्तर में नागा बटालियन को तैनात करने से अच्छे परिणाम मिल सकेगें।|bastar Videos in Hindi - हिंदी वीडियो, लेटेस्ट-ब्रेकिंग न्यूज़ हिंदी वीडियो में" />नक्सलवाद से लोहा लेने के लिए बस्तर में जल्द ही नागा बटालियन की तैनाती होगी। इससे पहले बस्तर में तैनात हो चुकी नागा बटालियन के अच्छे परिणामों को देखते हुए बस्तर में चार नागा बटालियनों को तैनात करने का फैसला लिया गया है। आने वाले दिनों में नागा जवान नक्सलियों से दो-दो हाथ करते नजर आएंगे। आपको बता दें कि साल 2004 में नागा बटालियन को बस्तर में नक्सलियों से लड़ने के लिए तैनात किया गया था, जिसके अच्छे परिणाम उस दौरान मिले थे। साथ ही अब तक जितना दूसरी फोर्सों को नक्सलियों से नुकसान हुआ, वैसा कोई भी नुकसान नागा बटालियन को नहीं हुआ। सबसे खास बात ये है कि नक्सलियों की नीति से लड़ने की तकनीक नागा बटालियन के जवान बखूबी जानते हैं। इसलिए माना जा रहा है कि बस्तर में नागा बटालियन को तैनात करने से अच्छे परिणाम मिल सकेगें।|bastar Videos in Hindi - हिंदी वीडियो, लेटेस्ट-ब्रेकिंग न्यूज़ हिंदी वीडियो में" /> नक्सलवाद से लोहा लेने के लिए बस्तर में जल्द ही नागा बटालियन की तैनाती होगी। इससे पहले बस्तर में तैनात हो चुकी नागा बटालियन के अच्छे परिणामों को देखते हुए बस्तर में चार नागा बटालियनों को तैनात करने का फैसला लिया गया है। आने वाले दिनों में नागा जवान नक्सलियों से दो-दो हाथ करते नजर आएंगे। आपको बता दें कि साल 2004 में नागा बटालियन को बस्तर में नक्सलियों से लड़ने के लिए तैनात किया गया था, जिसके अच्छे परिणाम उस दौरान मिले थे। साथ ही अब तक जितना दूसरी फोर्सों को नक्सलियों से नुकसान हुआ, वैसा कोई भी नुकसान नागा बटालियन को नहीं हुआ। सबसे खास बात ये है कि नक्सलियों की नीति से लड़ने की तकनीक नागा बटालियन के जवान बखूबी जानते हैं। इसलिए माना जा रहा है कि बस्तर में नागा बटालियन को तैनात करने से अच्छे परिणाम मिल सकेगें।|bastar Videos in Hindi - हिंदी वीडियो, लेटेस्ट-ब्रेकिंग न्यूज़ हिंदी वीडियो में">
होम » वीडियो

अब नक्सलियों के छक्‍के छुड़ाएगी नागा बटालियन

बस्तर ETV MP/Chhattisgarh| August 13, 2014, 8:16 AM IST

नक्सलवाद से लोहा लेने के लिए बस्तर में जल्द ही नागा बटालियन की तैनाती होगी। इससे पहले बस्तर में तैनात हो चुकी नागा बटालियन के अच्छे परिणामों को देखते हुए बस्तर में चार नागा बटालियनों को तैनात करने का फैसला लिया गया है। आने वाले दिनों में नागा जवान नक्सलियों से दो-दो हाथ करते नजर आएंगे। आपको बता दें कि साल 2004 में नागा बटालियन को बस्तर में नक्सलियों से लड़ने के लिए तैनात किया गया था, जिसके अच्छे परिणाम उस दौरान मिले थे। साथ ही अब तक जितना दूसरी फोर्सों को नक्सलियों से नुकसान हुआ, वैसा कोई भी नुकसान नागा बटालियन को नहीं हुआ। सबसे खास बात ये है कि नक्सलियों की नीति से लड़ने की तकनीक नागा बटालियन के जवान बखूबी जानते हैं। इसलिए माना जा रहा है कि बस्तर में नागा बटालियन को तैनात करने से अच्छे परिणाम मिल सकेगें।

News18india.com
First published: August 13, 2014, 8:15 AM IST
Latest Live TV

फोटो

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

चिंता के विचार आपकी ख़ुशी को बर्बाद कर सकते हैं। ऐसा न होने दें, क्योंकि इनमें अच्छी चीज़ों को ख़त्म करने की और समझदारी में निराशा का ज़हरीला बीज बोने की क्षमता होती है। ख़ुद को हमेशा अच्छा परिणाम पाने के लिए प्रोत्साहित करें और ख़राब हालात में भी कुछ-न-कुछ अच्छा देखने का गुण विकसित करें। ख़ास लोग ऐसी किसी भी योजना में रुपये लगाने के लिए तैयार होंगे, जिसमें संभावना नज़र आए और विशेष हो। भूमि से जुड़ा विवाद लड़ाई में बदल सकता है। मामले को सुलझाने के लिए अपने माता-पिता की मदद लें। उनकी सलाह से काम करें, तो आप निश्चित तौर पर मुश्किल का हल ढूंढने में क़ामयाब रहेंगे। किसी से अचानक हुई रुमानी मुलाक़ात आपका दिन बना देगी। काम के लिए समर्पित पेशेवर लोग रुपये-पैसे और करिअर के मोर्चे पर फ़ायदे में रहेंगे। सफ़र के लिए दिन ज़्यादा अच्छा नहीं है। जीवनसाथी के ख़राब व्यवहार का नकारात्मक असर आपके ऊपर पड़ सकता है। स्वयंसेवी कार्य या किसी की मदद करना आपकी मानसिक शांति के लिए अच्छे टॉनिक का काम कर सकता है। परेशान? आप पंडित जी से प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें

टॉप स्टोरीज