लाइव टीवी

वीडियो : Jeevan Samvad by Dayashankar Mishra: मन का कचरा !

देश News18Hindi| February 11, 2020, 10:41 AM IST

हम घर का कचरा निरंतर साफ करते रहते हैं. शरीर का हर दिन. इन सबके बीच अगर कुछ छूट जाता है तो वह है मन. मन के ऊपर भार बढ़ता ही जाता है. धीमे-धीमे उम्र बढ़ती रहती है. तरह-तरह के अनुभव हमें गढ़ते रहते हैं. अगर मन की सही तरह से देखभाल ना की जाए तो उस पर भार बढ़ता रहता है. स्मृतियां, टूटे दिल के तार, अधूरे वायदे, नाराजगी, मन मुटाव, अहंकार का वजन शरीर के मुकाबले मन पर अधिक भारी पड़ता है. मन की उपेक्षा, उसके पोषण में कमी जीवन रस को इतना प्रभावित कर देती है कि हम स्वयं से दूर होते जाते हैं.

News18 Hindi
First published: February 11, 2020, 10:41 AM IST

हम घर का कचरा निरंतर साफ करते रहते हैं. शरीर का हर दिन. इन सबके बीच अगर कुछ छूट जाता है तो वह है मन. मन के ऊपर भार बढ़ता ही जाता है. धीमे-धीमे उम्र बढ़ती रहती है. तरह-तरह के अनुभव हमें गढ़ते रहते हैं. अगर मन की सही तरह से देखभाल ना की जाए तो उस पर भार बढ़ता रहता है. स्मृतियां, टूटे दिल के तार, अधूरे वायदे, नाराजगी, मन मुटाव, अहंकार का वजन शरीर के मुकाबले मन पर अधिक भारी पड़ता है. मन की उपेक्षा, उसके पोषण में कमी जीवन रस को इतना प्रभावित कर देती है कि हम स्वयं से दूर होते जाते हैं.

Latest Live TV