अलवर लिचिंग: रकबर के पिता ने कहा, मेरे बेटे का पास गाय नहीं बकरियां थीं

अलवर06:33 PM IST Jul 23, 2018

रकबर के पिता ने न्याय की मांग करते हुए दावा किया कि रकबर के पास गाय की जगह बकरियां थीं और पुलिस की लापरवाही की वजह से उसकी मौत हो गई. न्यूज 18 इंडिया से बात करते हुए उन्होंने कहा कि मेरा बेटा गोतस्कर नहीं है. हम रोजगार के लिए बकरियां पालते हैं और उन्हें बेचते हैं. जिस वक्त ये घटना हुआ उस वक्त भी मेरा बेटा बकरियां ले जा रहा था. उन्होंने आगे कहा कि सरकार से हमें उम्मीद हैं कि हमें इंसाफ मिले. बता दें कि 20 जुलाई को राजस्थान के अलवर से एक बार फिर भीड़ पर गो तस्करी के शक में एक आदमी की पीट-पीटकर हत्या का आरोप लगा है. घटना अलवर के रामगढ़ की थी. बताया जा रहा है कि एक शख्स पशु लेकर जा रहा था लेकिन उसी वक्त भीड़ ने उसे घेर कर पीटना शुरू कर दिया, जिससे उसकी मौत हो गई. पुलिस की तफ्तीश के मुताबिक, हरियाणा स्थित अपने गांव से दो गायें रामगढ़ के लालवंडी जा रहा था, तभी भीड़ ने उस पर हमला किया था.

news18 hindi

रकबर के पिता ने न्याय की मांग करते हुए दावा किया कि रकबर के पास गाय की जगह बकरियां थीं और पुलिस की लापरवाही की वजह से उसकी मौत हो गई. न्यूज 18 इंडिया से बात करते हुए उन्होंने कहा कि मेरा बेटा गोतस्कर नहीं है. हम रोजगार के लिए बकरियां पालते हैं और उन्हें बेचते हैं. जिस वक्त ये घटना हुआ उस वक्त भी मेरा बेटा बकरियां ले जा रहा था. उन्होंने आगे कहा कि सरकार से हमें उम्मीद हैं कि हमें इंसाफ मिले. बता दें कि 20 जुलाई को राजस्थान के अलवर से एक बार फिर भीड़ पर गो तस्करी के शक में एक आदमी की पीट-पीटकर हत्या का आरोप लगा है. घटना अलवर के रामगढ़ की थी. बताया जा रहा है कि एक शख्स पशु लेकर जा रहा था लेकिन उसी वक्त भीड़ ने उसे घेर कर पीटना शुरू कर दिया, जिससे उसकी मौत हो गई. पुलिस की तफ्तीश के मुताबिक, हरियाणा स्थित अपने गांव से दो गायें रामगढ़ के लालवंडी जा रहा था, तभी भीड़ ने उस पर हमला किया था.

Latest Live TV