लाइव टीवी
होम » वीडियो »

राजस्थान

डूंगरपुर में नए साल पर फूलों के बाग की सौगात देगी नगर परिषद

डूंगरपुर News18 Rajasthan| December 28, 2018, 12:02 PM IST

नए साल की शुरुआत से पहले डूंगरपुर नगर परिषद शहरवासियों को एक सौगात देने जा रही है. यह सौगात फूलों के बगीचे के रूप में है. जहां पर देशी और विदेशी कई किस्म के फूल होंगे और बीच में रुटीन फुटपाथ होगा. नैनीताल की तर्ज पर तैयार किए जा रहे बगीचे में सुबह - सुबह लोग टहल सकते हैं. शहर के गेपसागर झील के किनारे बर्ड वॉचिंग साइड पर फूलों का बाग डेवलप किया जा रहा है. करीब 2 से 3 बीघा जमीन में चारों ओर फूल ही फूल दिखाई देंगे. इसके लिए अमेरिका, जर्मन, लंदन, नेपाल आदि स्थानों से अलग-अलग किस्म के फूल लाए गए हैं. जिन्हें लगाने के लिए धरातल पर सेगमेंट तैयार कर लिया गया है. विशेष कर यहां पर पंचेरिया डार्क पिंक, येलो पिंक, लाइट पिंक, क्रेमपेन, नाला अस्वा, ट्यूलिप कश्मीर, ग्लेडियास, पिटूनिया आदि किस्म के फूल हैं सभापति केके गुप्ता ने बताया कि फूलों के बगीचों का निर्माण करने का आइडिया उत्तराखंड बद्रीनाथ मार्ग पर आने वाले फूलों की घाटी से आया. (रिपोर्ट- जयेश)

news18 hindi
First published: December 28, 2018, 12:02 PM IST

नए साल की शुरुआत से पहले डूंगरपुर नगर परिषद शहरवासियों को एक सौगात देने जा रही है. यह सौगात फूलों के बगीचे के रूप में है. जहां पर देशी और विदेशी कई किस्म के फूल होंगे और बीच में रुटीन फुटपाथ होगा. नैनीताल की तर्ज पर तैयार किए जा रहे बगीचे में सुबह - सुबह लोग टहल सकते हैं. शहर के गेपसागर झील के किनारे बर्ड वॉचिंग साइड पर फूलों का बाग डेवलप किया जा रहा है. करीब 2 से 3 बीघा जमीन में चारों ओर फूल ही फूल दिखाई देंगे. इसके लिए अमेरिका, जर्मन, लंदन, नेपाल आदि स्थानों से अलग-अलग किस्म के फूल लाए गए हैं. जिन्हें लगाने के लिए धरातल पर सेगमेंट तैयार कर लिया गया है. विशेष कर यहां पर पंचेरिया डार्क पिंक, येलो पिंक, लाइट पिंक, क्रेमपेन, नाला अस्वा, ट्यूलिप कश्मीर, ग्लेडियास, पिटूनिया आदि किस्म के फूल हैं सभापति केके गुप्ता ने बताया कि फूलों के बगीचों का निर्माण करने का आइडिया उत्तराखंड बद्रीनाथ मार्ग पर आने वाले फूलों की घाटी से आया. (रिपोर्ट- जयेश)

Latest Live TV

भारत

  • एक्टिव केस

    5,095

     
  • कुल केस

    5,734

     
  • ठीक हुए

    472

     
  • मृत्यु

    166

     
स्रोत: स्वास्थ्य मंत्रालय, भारत सरकार
अपडेटेड: April 09 (08:00 AM)
हॉस्पिटल & टेस्टिंग सेंटर

दुनिया

  • एक्टिव केस

    1,099,679

     
  • कुल केस

    1,518,773

    +813
  • ठीक हुए

    330,589

     
  • मृत्यु

    88,505

    +50
स्रोत: जॉन हॉपकिंस यूनिवर्सिटी, U.S. (www.jhu.edu)
हॉस्पिटल & टेस्टिंग सेंटर