लाइव टीवी
होम » वीडियो » राजस्थान

वन्यजीव प्रेमियों ने नीलगाय के बच्चों को पाल-पोसकर छोड़ा रेस्क्यू सेंटर पर

राजस्थान News18 Rajasthan| October 11, 2018, 11:02 PM IST

हनुमानगढ़ जिले के टिब्बी के चंदूरवाली गांव दस सीडीआर के वन्य जीव प्रेमी हंसराज धारणियां व धर्मपाल निमिवाल और उनके परिवार ने वन्यजीव संरक्षण का एक अनुकरणीय काम किया है. एक माह पहले एक प्रसूता मादा नीलगाय पर जब श्वानों ने हमला किया तो उसने अपने नवजात बच्चों को खेत छोड़ कर अपनी जान बचाई और अपने बच्चों से बिछड़ गई . इसी बीच वन्य जीव प्रेमी हंसराज धारणिया व धर्मपाल निमिवाल ने उस नीलगाय को ढूंढने का काफी प्रयास किया, जब नील गाय नहीं मिली तो दोनों नवजात बच्चों को अपने घर लाकर एक माह तक नियमित रूप दूध, हरा चारा डालकर पालन-पोषण किया और एक बच्चे का नाम शीनू और दूसरे का नाम शेरू रखा. एक माह तक नवजात बच्चों की सेवा करने के बाद स्वयं के व्यय पर नोहर वन महकमे के रेस्क्यू सेंटर पर स्वतंत्र विचरण के लिए छोड़ दिया.

news18 hindi
First published: October 11, 2018, 10:59 PM IST

हनुमानगढ़ जिले के टिब्बी के चंदूरवाली गांव दस सीडीआर के वन्य जीव प्रेमी हंसराज धारणियां व धर्मपाल निमिवाल और उनके परिवार ने वन्यजीव संरक्षण का एक अनुकरणीय काम किया है. एक माह पहले एक प्रसूता मादा नीलगाय पर जब श्वानों ने हमला किया तो उसने अपने नवजात बच्चों को खेत छोड़ कर अपनी जान बचाई और अपने बच्चों से बिछड़ गई . इसी बीच वन्य जीव प्रेमी हंसराज धारणिया व धर्मपाल निमिवाल ने उस नीलगाय को ढूंढने का काफी प्रयास किया, जब नील गाय नहीं मिली तो दोनों नवजात बच्चों को अपने घर लाकर एक माह तक नियमित रूप दूध, हरा चारा डालकर पालन-पोषण किया और एक बच्चे का नाम शीनू और दूसरे का नाम शेरू रखा. एक माह तक नवजात बच्चों की सेवा करने के बाद स्वयं के व्यय पर नोहर वन महकमे के रेस्क्यू सेंटर पर स्वतंत्र विचरण के लिए छोड़ दिया.

Latest Live TV