लाइव टीवी
होम » वीडियो

मां सीता के आशीर्वाद से कभी नहीं झड़ते इस बरगद के पत्‍ते

देश ETV Bihar/Jharkhand| May 6, 2014, 10:24 AM IST

सीतामढ़ी के लोगों के लिए एक बरगद का पेड़ प्रकृति का अद्भुत उपहार बन चुका है। पौराणिक कथाओं के अनुसार सीतामढ़ी के पंथपाकर का यह पेड़ रामायण काल का है। माना जाता है कि विवाह के बाद अयोध्‍या लौटते समय सीता माता ने इसी पेड़ के नीचे विश्राम किया था। जिससे इस अमरत्‍व का वरदान प्राप्‍त हो गया था। कहा जाता है कि पतझड़ में भी कभी इस पेड़ के पूरे पत्‍ते नहीं झड़ते।

News18india.com
First published: May 6, 2014, 10:21 AM IST

सीतामढ़ी के लोगों के लिए एक बरगद का पेड़ प्रकृति का अद्भुत उपहार बन चुका है। पौराणिक कथाओं के अनुसार सीतामढ़ी के पंथपाकर का यह पेड़ रामायण काल का है। माना जाता है कि विवाह के बाद अयोध्‍या लौटते समय सीता माता ने इसी पेड़ के नीचे विश्राम किया था। जिससे इस अमरत्‍व का वरदान प्राप्‍त हो गया था। कहा जाता है कि पतझड़ में भी कभी इस पेड़ के पूरे पत्‍ते नहीं झड़ते।

Latest Live TV