आर पार : 2019 के लिए मोदी की 'आरक्षण क्रान्ति'?

आर पार News18India| January 8, 2019, 11:28 PM IST

1947 में देश आज़ाद हुआ तब देश ग़रीब था. नेहरू जी की सरकार आई, लाल बहादुर शास्त्री, मोरारजी देसाई और फिर प्रधानमंत्री बदलते रहे. फिर गरीबी हटाओ के नारे पर इंदिरा सरकार आई. राजीव गाँधी ने भी यही नारा दिया. नरसिम्हा राव की सरकार बनी फिर भारत निर्माण के नारे के साथ. 10 साल के लिए मनमोहन सिंह की UPA सरकार आई लेकिन ना इस देश से गरीबी हटी. लेकिन पहली बार मोदी सरकार ने ऐतिहासिक कदम उठाते हुए गरीबी के ख़िलाफ़ आरक्षण क्रांति की है. ग़रीबी हटाने के लिए धर्म की दीवार भी तोड़ दी गई. आरक्षण में पहली बार 'सबका साथ सबका विकास' का सन्देश दिया गया लेकिन कुछ नेताओं को अभी भी सियासत सूझ रही है. अखिलेश यादव की पार्टी तो मुसलमानों के नाम पर धमकी देने पर उतर आई है. तो क्या सियासत के नाम पर कुछ नेता देश हित से खिलवाड़ कर रहे हैं?

अमिश देवगन
First published: January 8, 2019, 11:28 PM IST
Latest Live TV

फोटो

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

चिंता के विचार आपकी ख़ुशी को बर्बाद कर सकते हैं। ऐसा न होने दें, क्योंकि इनमें अच्छी चीज़ों को ख़त्म करने की और समझदारी में निराशा का ज़हरीला बीज बोने की क्षमता होती है। ख़ुद को हमेशा अच्छा परिणाम पाने के लिए प्रोत्साहित करें और ख़राब हालात में भी कुछ-न-कुछ अच्छा देखने का गुण विकसित करें। ख़ास लोग ऐसी किसी भी योजना में रुपये लगाने के लिए तैयार होंगे, जिसमें संभावना नज़र आए और विशेष हो। भूमि से जुड़ा विवाद लड़ाई में बदल सकता है। मामले को सुलझाने के लिए अपने माता-पिता की मदद लें। उनकी सलाह से काम करें, तो आप निश्चित तौर पर मुश्किल का हल ढूंढने में क़ामयाब रहेंगे। किसी से अचानक हुई रुमानी मुलाक़ात आपका दिन बना देगी। काम के लिए समर्पित पेशेवर लोग रुपये-पैसे और करिअर के मोर्चे पर फ़ायदे में रहेंगे। सफ़र के लिए दिन ज़्यादा अच्छा नहीं है। जीवनसाथी के ख़राब व्यवहार का नकारात्मक असर आपके ऊपर पड़ सकता है। स्वयंसेवी कार्य या किसी की मदद करना आपकी मानसिक शांति के लिए अच्छे टॉनिक का काम कर सकता है। परेशान? आप पंडित जी से प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें

टॉप स्टोरीज