आर-पार. आतंकी मसूद पर बैन विपक्ष क्यों बेचैन?

आर पार09:42 PM IST May 02, 2019

हर Exam के लिए एक Syllabus होता है उसी के आधार पर परीक्षा में सवाल पूछे जाते हैं लेकिन कई बार ऐसे भी सवाल पूछ लिए जाते हैं जो Syllabus में नहीं होते हैं. ऐसे सवालों को Out Of Syllabus वाले सवाल कहा जाता है. ऐसा लगता है 2019 के चुनावी इम्तिहान में विपक्ष के साथ भी कुछ ऐसा ही हो रहा है. विपक्ष ने सोचा भी नहीं होगा कि बीच चुनाव मसूद अज़हर उनके लिए परेशानी का सबब बन जाएगा. कुछ दिन पहले तक मोदी सरकार को कोसने वाले विपक्ष को अब शब्द नहीं सूझ रहे हैं. कांग्रेस इसे UPA सरकार की कोशिशों का नतीजा बता रही है और इस बैन की टाइमिंग पर सवाल उठी रही है. तो उमर अब्दुल्लाह इसे अधूरी जीत साबित करने पर तुले हैं. मायावती ने तो इसे चुनावी कथकंडा ही करार दे दिया. यानी विपक्ष की मानें तो EVM और चुनाव आयोग की तरह संयुक्त राष्ट्र भी अब मोदी के इशारे पर काम कर रहा है. इसी मुद्दे पर आज होगी देश की सबसे बड़ी बहस आर-पार. आतंकी मसूद पर बैन विपक्ष क्यों बेचैन?

news18 hindi

हर Exam के लिए एक Syllabus होता है उसी के आधार पर परीक्षा में सवाल पूछे जाते हैं लेकिन कई बार ऐसे भी सवाल पूछ लिए जाते हैं जो Syllabus में नहीं होते हैं. ऐसे सवालों को Out Of Syllabus वाले सवाल कहा जाता है. ऐसा लगता है 2019 के चुनावी इम्तिहान में विपक्ष के साथ भी कुछ ऐसा ही हो रहा है. विपक्ष ने सोचा भी नहीं होगा कि बीच चुनाव मसूद अज़हर उनके लिए परेशानी का सबब बन जाएगा. कुछ दिन पहले तक मोदी सरकार को कोसने वाले विपक्ष को अब शब्द नहीं सूझ रहे हैं. कांग्रेस इसे UPA सरकार की कोशिशों का नतीजा बता रही है और इस बैन की टाइमिंग पर सवाल उठी रही है. तो उमर अब्दुल्लाह इसे अधूरी जीत साबित करने पर तुले हैं. मायावती ने तो इसे चुनावी कथकंडा ही करार दे दिया. यानी विपक्ष की मानें तो EVM और चुनाव आयोग की तरह संयुक्त राष्ट्र भी अब मोदी के इशारे पर काम कर रहा है. इसी मुद्दे पर आज होगी देश की सबसे बड़ी बहस आर-पार. आतंकी मसूद पर बैन विपक्ष क्यों बेचैन?

Latest Live TV