Aar Paar: प्रचंड जीत से बदला TIME

आर पारMay 29, 2019, 10:58 PM IST

नरेंद्र मोदी की जीत से अच्छे-अच्छों की ज़ुबान पर ताले लग गए हैं. जो लोग दावे कर रहे थे कि देश में मोदी से लोग परेशान हैं. विकास नहीं हुआ. उन्हें अब समझ नहीं आ रहा है कि मोदी की इस प्रचंड जीत का विश्लेषण आखिर कैसे करें. सुर बदलने वालों में अमेरिका की TIME मैग्ज़ीन का भी नाम जुड़ गया है. 10 मई को जिस टाइम मैग्ज़ीन ने मोदी को डिवाइडर इन चीफ यानी बाँटने वाला बताया था. उसी टाइम मैगज़ीन ने अब नरेंद्र मोदी को जोड़ने वाला बता दिया है. यानी 19 दिन के अंदर इस मैग्जीन को यू-टर्न लेने पर मजबूर होना पड़ा लेकिन सवाल है कि क्या उन तमाम विपक्षी नेताओं का भी हृदय परिवर्तन हो गया जो अब तक pm मोदी को पानी पी पी कर कोसते रहे हैं. उन पर देश को बाँटने का आरोप लगाते रहे हैं क्योंकि इस लिस्ट में राहुल गाँधी से लेकर ममता बनर्जी जैसे नेताओं का नाम भी शामिल है तो आज इसी मुद्दे पर आज होगी देश की सबसे बड़ी बहस आर-पार. देश को जोड़ने वाले मोदी

अमिश देवगन

नरेंद्र मोदी की जीत से अच्छे-अच्छों की ज़ुबान पर ताले लग गए हैं. जो लोग दावे कर रहे थे कि देश में मोदी से लोग परेशान हैं. विकास नहीं हुआ. उन्हें अब समझ नहीं आ रहा है कि मोदी की इस प्रचंड जीत का विश्लेषण आखिर कैसे करें. सुर बदलने वालों में अमेरिका की TIME मैग्ज़ीन का भी नाम जुड़ गया है. 10 मई को जिस टाइम मैग्ज़ीन ने मोदी को डिवाइडर इन चीफ यानी बाँटने वाला बताया था. उसी टाइम मैगज़ीन ने अब नरेंद्र मोदी को जोड़ने वाला बता दिया है. यानी 19 दिन के अंदर इस मैग्जीन को यू-टर्न लेने पर मजबूर होना पड़ा लेकिन सवाल है कि क्या उन तमाम विपक्षी नेताओं का भी हृदय परिवर्तन हो गया जो अब तक pm मोदी को पानी पी पी कर कोसते रहे हैं. उन पर देश को बाँटने का आरोप लगाते रहे हैं क्योंकि इस लिस्ट में राहुल गाँधी से लेकर ममता बनर्जी जैसे नेताओं का नाम भी शामिल है तो आज इसी मुद्दे पर आज होगी देश की सबसे बड़ी बहस आर-पार. देश को जोड़ने वाले मोदी

Latest Live TV