आर-पार : आज़ादी मिल गई लेकिन हमारे जवानों को शहादत से आज़ादी कब मिलेगी?

आर पार11:06 PM IST Aug 14, 2018

कल पूरा देश आज़ादी के 72 साल पूरे होने का जश्न मना रहा होगा. लेकिन ये जश्न फीका रह जाता अगर हमारे वीर जवान पाकिस्तान से बदला नहीं लेते ये जश्न अधूरा रह जाता अगर भारत के जांबाज सिपाही पुष्पेंद्र सिंह की शहादत का हिसाब बराबर नहीं होता. लेकिन एक तरफ पाकिस्तान को रौंदने की ताकत रखने वाले वीर जवान हैं तो दूसरी ओर कांग्रेस के एक नेता हैं जो पाकिस्तान जाने के लिए उतावाले हो रहे हैं. एक तरफ पाकिस्तान हमारे सैनिकों को शहीद कर रहा है और दूसरी ओर नवजोत सिंह सिद्धू इमरान खान की तोजपोशी में शामिल होने के लिए बेचैन हैं. लेकिन आज हम बड़ा सवाल उठा रहे हैं कि इस देश को आज़ादी मिल गई लेकिन हमारे जवानों को शहादत से आज़ादी कब मिलेगी? और क्या बॉर्डर पाकिस्तान के साथ मिठाई बांटने का सिलसिला जारी रखना चाहिए? आज इसी पर होगी देश की सबसे बड़ी बहस, आज़ादी के जश्न से पहले शहादत का बदला. देखें अमिश देवगन के साथ.

अमिश देवगन

कल पूरा देश आज़ादी के 72 साल पूरे होने का जश्न मना रहा होगा. लेकिन ये जश्न फीका रह जाता अगर हमारे वीर जवान पाकिस्तान से बदला नहीं लेते ये जश्न अधूरा रह जाता अगर भारत के जांबाज सिपाही पुष्पेंद्र सिंह की शहादत का हिसाब बराबर नहीं होता. लेकिन एक तरफ पाकिस्तान को रौंदने की ताकत रखने वाले वीर जवान हैं तो दूसरी ओर कांग्रेस के एक नेता हैं जो पाकिस्तान जाने के लिए उतावाले हो रहे हैं. एक तरफ पाकिस्तान हमारे सैनिकों को शहीद कर रहा है और दूसरी ओर नवजोत सिंह सिद्धू इमरान खान की तोजपोशी में शामिल होने के लिए बेचैन हैं. लेकिन आज हम बड़ा सवाल उठा रहे हैं कि इस देश को आज़ादी मिल गई लेकिन हमारे जवानों को शहादत से आज़ादी कब मिलेगी? और क्या बॉर्डर पाकिस्तान के साथ मिठाई बांटने का सिलसिला जारी रखना चाहिए? आज इसी पर होगी देश की सबसे बड़ी बहस, आज़ादी के जश्न से पहले शहादत का बदला. देखें अमिश देवगन के साथ.

Latest Live TV