HTP : क्या UP कांग्रेस की कमान प्रियंका को देने से सबसे ज़्यादा नुक़सान महागठबन्धन को होगा?

हम तो पूछेंगे11:33 PM IST Feb 08, 2019

मिशन 2019 की उलटी गिनती शुरू हो चुकी है और सभी दलों ने इस जंग-ए-मैदान को फ़तह करने के लिए तैयारी शुरू कर दी है. इस घमासान में सबकी नज़र उत्तर प्रदेश पर है, जहाँ कांग्रेस ने प्रियंका गाँधी को सक्रिय राजनीति में उतारकर आख़िरी बाज़ी चल दी है. इससे पहले SP-BSP गठबन्धन का ऐलान हो चुका है, जिसमें अजित सिंह की पार्टी RLD भी शामिल होगी. यानी इस बार तीनतरफ़ा लड़ाई की तैयारी है. महागठबन्धन की उम्मीद टूटी तो भी SP-BSP गठबन्धन से BJP को ज़बरदस्त नुक़सान के अंदेशे जताए जाने लगे. लेकिन अचानक इस महासमर में प्रियंका को उतारकर कांग्रेस ने लड़ाई को दिलचस्प बना दिया है. प्रियंका को पूर्वी UP की कमान सौंपी गई है तो ज्योतिरादित्य सिंधिया को पश्चिमी UP की. सवाल उठता है कि कांग्रेस की तरफ़ से प्रियंका को कमान सौंपे जाने से क्या होगा? प्रियंका BJP के लिए नुक़सानदेह साबित होगी या महागठबन्धन के लिए

प्रीति रघुनंदन

मिशन 2019 की उलटी गिनती शुरू हो चुकी है और सभी दलों ने इस जंग-ए-मैदान को फ़तह करने के लिए तैयारी शुरू कर दी है. इस घमासान में सबकी नज़र उत्तर प्रदेश पर है, जहाँ कांग्रेस ने प्रियंका गाँधी को सक्रिय राजनीति में उतारकर आख़िरी बाज़ी चल दी है. इससे पहले SP-BSP गठबन्धन का ऐलान हो चुका है, जिसमें अजित सिंह की पार्टी RLD भी शामिल होगी. यानी इस बार तीनतरफ़ा लड़ाई की तैयारी है. महागठबन्धन की उम्मीद टूटी तो भी SP-BSP गठबन्धन से BJP को ज़बरदस्त नुक़सान के अंदेशे जताए जाने लगे. लेकिन अचानक इस महासमर में प्रियंका को उतारकर कांग्रेस ने लड़ाई को दिलचस्प बना दिया है. प्रियंका को पूर्वी UP की कमान सौंपी गई है तो ज्योतिरादित्य सिंधिया को पश्चिमी UP की. सवाल उठता है कि कांग्रेस की तरफ़ से प्रियंका को कमान सौंपे जाने से क्या होगा? प्रियंका BJP के लिए नुक़सानदेह साबित होगी या महागठबन्धन के लिए

Latest Live TV